पीएम नरेंद्र मोदी जापान के दो दिवसीय दौरे पर

पीएम नरेंद्र मोदी जापान के दो दिवसीय दौरे पर

भारत-जापान के बीच 13वें वार्षिक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए पीएम मोदी दो दिवसीय दौरे पर शनिवार को टोक्यो पहुंचे। शनिवार देर रात टेक्यो एयरपोर्ट पर मोदी का स्वागत किया गया, फिर वे एक होटल में भारतीयों से भी मिले।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सुबह जापान के पीएम शिंजो आबे से मुलाकात की. आज मोदी और शिंजो आबे होटल माउंट फुजी में गर्मजोशी से मिले.

टोक्यो पहुंचे पीएम मोदी ने कहा कि जापानी समकक्ष शिंजो आबे के साथ उनकी बैठक दोनों देशों के मजबूत रिश्तों में एक नया अध्याय जोड़ेगी. 2014 के बाद सम्मेलन के लिए मोदी की यह तीसरी यात्रा है.

प्रधानमंत्री एबी ने इस बार मोदी की अगवानी के लिए खास तैयारी की है। वे रविवार को यामानशी प्रीफेक्चर की सुरम्य वादियों में स्थित हॉलिडे होम में मोदी को डिनर देंगे। मोदी रात में वहीं रुकेंगे।

दोनों देशों के बीच रविवार से शुरू हो रहे दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की जाएगी और द्विपक्षीय रिश्तों को और मजबूत बनाने पर चर्चा होगी. किसी तीसरे देश में ज्वाइंट इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट्स के साथ रक्षा संबंधों को आगे बढ़ाने पर भी जोर दिया जाएगा। दोनों देशों के बीच आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, मानवरहित वाहन (यूएवी) और रोबोटिक्‍स के विकास पर भी चर्चा की उम्मीद है। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी और एबी के बीच यह 12वीं बैठक होगी।

शिंजो एबी, प्रधानमंत्री मोदी को ट्रेन से यामानशी स्थित अपने निजी आवास पर लेकर जाएंगे। टोक्‍यो से यामानशी की दूरी 110 किमी है। यह इलाका माउंट फिजी समेत कई पहाड़ियों से घिरा हुआ है। माउंट फिजी जापान का सबसे ऊंचा पर्वत है, जिसकी ऊंचाई 3,776 मीटर है।

होटल माउंट फूजी में मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने शिंजो एबी को भारत से ले गए स्पेशल गिफ्ट भेंट किया। मोदी ने शिंजो आबे को दो कटोरे भेंट किए हैं. ये दोनों कटोरे गुलाबी और पीले स्फटिक से बने हैं. गुलाबी और पीला स्फटिक राजस्थान में पाया जाता है. इन दोनों कटोरों को गुजरात के खंभात क्षेत्र के मशहूर कारीगर शब्बीर हुसैन इब्राहिम भाई शेख ने बनाया है. इन दोनों कटोरों को हाथ से बनाया गया है. इन्हें बनाने में किसी भी मशीन का प्रयोग नहीं किया गया है. मोदी ने आबे को खास दरियां भी दी हैं, जिसे मिर्जापुर के बुनकरों द्वारा हाथ से बुना गया है. इन दरियों पर नीले, लाल और पीले रंग का इस्तेमाल किया गया है. दोनों  कटोरों और दरियों को अहमदाबाद स्थित राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान की निगरानी में तैयारी किया गया है.

यह भेट खासकर भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन के लिए जापान यात्रा के अवसर पर तैयार किया गया था।

प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को जारी बयान में जापान को आर्थिक और तकनीकी क्षेत्र का सबसे भरोसेमंद साझेदार बताया था। उन्होंने कहा कि एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत भारत प्रशांत क्षेत्र में स्वतंत्र और खुलेपन के लिए दृढ़ संकल्पित है। मोदी जापान के साथ कारोबार बढ़ाने को लेकर शिंजो आबे और बिजनेस लीडर्स के साथ चर्चा करेंगे। इससे हेल्थकेयर, डिजिटल टेक्नोलॉजी, कृषि, फूड प्रोसेसिंग, आपदा के खतरे को कम करने, आपदारोधी निर्माण के क्षेत्र में सहयोग मिलेगी।

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सबसे विश्वसनीय दोस्तों में से एक बताया. उन्होंने कहा कि भारतीय नेता के साथ मिलकर वह हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को खुला एवं मुक्त बनाने के लिए द्विपक्षीय सहयोग मजबूत करना चाहेंगे.

जापानी प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने महान देश के एक उत्कृष्ट नेता हैं. आबे ने कहा कि जिस दिन सहयोग के माध्यम से जापानी शिंकनसेन बुलेट ट्रेनें मुंबई से अहमदाबाद के बीच दौड़ेंगी वह दिन भारत-जापान की भविष्य में दोस्ती का चमकता हुआ संकेत होगा. इससे पहले मोदी और शिंजो औद्योगिक रोबोट विनिर्माता कंपनी ‘फानुक’ के कारखाने गए. यह कारखाना तोक्यो के पश्चिम में यामानशी प्रशासनिक क्षेत्र में है.

मोदी-एबी का एजेंडा

  • भारत व जापान के बीच वैश्विक कनेक्टिविटी परियोजनाओं की शुरुआत
  • आस्ट्रेलिया व अमेरिका के साथ मिल कर चार देशों के गुट की समीक्षा
  • भारत में जापान की मदद से लगाई जा रही बुलेट ट्रेन परियोजना की समीक्षा
  • जापान में एक लाख प्रशिक्षित भारतीयों को रोजगार के अवसर पर वार्ता
  • संयुक्त तौर पर हथियारों के विकास से जुड़ी परियोजनाओं की समीक्षा
  • पांच स्तरीय रक्षा सहयोग वार्ता की समीक्षा
  • द्विपक्षीय कारोबार के सुस्त होती रफ्तार


Share on Google Plus

About Team CR

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment