प्रदूषण करने वाली फैक्ट्रियों का कटेगा बिजली कनेक्शन

प्रदूषण करने वाली फैक्ट्रियों का कटेगा बिजली कनेक्शन
राजस्थान प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने हरमाड़ा, आकेड़ा डूंगर, लक्ष्मीनारायणपुरा, जैसल्या क्षेत्र में प्लास्टिक, रबर व ऑयल की रिसाइक्लिंग व जलाने वाली फैक्ट्रियों को चिन्हित कर कनेक्शन काटने की कार्रवाई शुरू करवा दी है। जयपुर शहर की आबोहवा जहरीला करने वाली फैक्ट्रियों के पानी व बिजली कनेक्शन कटेंगे ताकि वायु प्रदूषण नहीं हो और लोगों में बीमारियां ना हों।

तापमान कम होने के कारण प्रदूषण का धुआं ज्यादा ऊंचाई तक नहीं जा पाता और जमीन के आसपास ही फैलता रहता है। इससे लोगों को सांस लेने में दिक्कत होती है। लोगों का कहना है कि लोहा गलाने, प्लास्टिक रिसाइकिल व ऑयल जलाने की फैक्ट्रियों के कारण शाम 7 से रात 12 बजे तक रोड नं. 5 से रोड नं. 14 तक सीकर रोड पर धुंआ व धुंध का माहौल रहता है। यहां की हजारों कॉलोनियों के लोगों में अस्थमा व फेफड़ों की बीमारियां हो रही है। प्रदूषण बोर्ड को शिकायतों के बावजूद समाधान नहीं हो रहा है। लोगों ने लोहा गलाने वाली फैक्ट्रियों को शिफ्ट करने या फिर प्रदूषण कंट्रोल संयंत्र लगाने की मांग की है।

लोगों के विरोध व शिकायतों के बाद बोर्ड को यह फैसला लेना पड़ा है। प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के रीजनल अफसर एमसी शर्मा ने बताया कि प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों पर कार्रवाई की जा रही है। वहीं जयपुर डिस्कॉम के मुरलीपुरा सबडिवीजन एईएन डीके शर्मा ने बताया कि प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की रिपोर्ट के बाद 4 कनेक्शन काटे हैं।

प्रदेश में प्रदूषण की शिकायतों को देखते हुए एसआईपी या औद्योगिक बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन करते समय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की एनओसी जरूरी होती थी। इसके साथ ही कनेक्शन दुबारा कनेक्शन करवाने के लिए भी एनओसी आवश्यक थीए लेकिन इससे कई बिजली कनेक्शन अटक गए थे। बाद में सरकार ने छूट दे दी। लेकिन अब लोग खुले तौर पर एसआईपी व इण्डस्ट्रियल बिजली कनेक्शन ले रहे हैं तथा इनसे निकलने वाली हवा लोगों का दम घोट रही है। इसके बावजूद प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड व बिजली कंपनी सर्वे और कार्रवाई नहीं कर रही है।

Share on Google Plus

About Team CR

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment