गहलोत पहुंचे 12 तुगलक लेन मंत्रिमंडल गठन को लेकर सस्पेंस खत्म


अशोक गहलोत पहुंचे 12 तुगलक लेन , राहुल गांधी और राजस्थान के नेताओ के बीच मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बैठक शुरू नाम लगभग फाइनल, गहलोत पहुंचे 12 तुगलक लेन मंत्रिमंडल गठन को लेकर सस्पेंस खत्म अब कभी भी हो सकता है शपथ ग्रहण कल लौटेंगे गहलोत ।
राजस्थान में गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल को लेकर बैठक का दौर खत्म, शाम को अशोक गहलोत भी राहुल गांधी के 12 तुगलक लेन स्थित आवास पहुंचे, जहां पर एक बार फिर राजस्थान के आला नेताओं के साथ राहुल की चर्चा हुई, तरुण कुमार, देवेंद्र यादव, विवेक बंसल और निजामुद्दीन राहुल गांधी के आवास पर मौजूद थे ये चारों राजस्थान कांग्रेस के सचिवा हैं ।
मंत्रिमंडल पर अंतिम मुहर दिल्ली से राहुल गांधी ही लगाएंगे, इसी को लेकर राजस्थान के आला नेताओं की दिल्ली दौड़ जारी है, राजस्थान में एससी-एसटी के कौन होंगे कैबिनेट मंत्री इसे लेकर माथापच्ची चल रही है, गहलोत कैबिनेट में एससी-एसटी से जीतकर आए विधायक अपनी दावेदारी एक तिहाई से ज्यादा सीटों पर रखना चाहते हैं ।
सामान्य सीटों से जीतकर आये एससी-एसटी के विधायकों में कांग्रेस के जैसलमेर से रूपाराम मेघवाल, दौसा से मुरारी मीणा, देवली उनियारा से हरीश मीणा, पीपल्दा से रामनारायण मीणा है, तो वहीं निर्दलीय विधायकों में महुआ से ओम प्रकाश हुडला, थानागाजी से कांती मीणा और गंगापुर सीट से रामकेश मीणा वो नेता हैं, जो जनरल सीट से जीतकर आयें है ।
एससी-एसटी कैटेगिरी में इस बार कांग्रेस के 19 चेहरे ऐसे है जो कैबिनेट में शामिल होने का दम रखते हैं, मास्टर भंवरलाल, परसराम मोरदिया, खिलाड़ी लाल बैरवा, रमेश मीणा, परसादी मीणा, मंजू देवी जायल, महेन्द्रजीत मालवीय, दयाराम परमार और रामनारायण मीणा वो नाम है जो कैबिनेट का हिस्सा बन सकते हैं, जनजातीय क्षेत्र से महेन्द्रजीत सिंह मालवीय और दयाराम परमार का नाम लगभग तय है ।
मंत्रिपरिषद को लेकर चल रही सियासी चर्चाओं के बीच कौन से विभाग किसके पास रहेंगे, इसको लेकर भी कयास जारी है, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के हिस्से में फाइनेंस,गृह ,पीडब्लूडी और माइनिंग जैसे विभाग आ सकते हैं, इनमें फाइनेंस खुद सचिन पायलट अपने पास रख सकतें है, ताकी प्रदेश का सबसे महत्तपूर्ण माना जाने वाला बजट पायलट ही फाइनेंस मिनीस्टर के तौर पर पेश करें ।
राज्य में हर महकमे का सर्वेसर्वा सीएम को ही माना जाता है, ऐसे में अगर ये महत्वपूर्ण विभाग पायलट के पास जाते हैं तो राजस्थान की सरकार में दो पावर सेंटर बनना तय है, जिसके बाद दोनों ही खेमे के बीच सियासी खींचतान तेज हो सकती है ।
इस तरह संभावित विधानसभा अध्यक्ष और 20 मंत्रियों के साथ 20 जनवरी से पहले विधानसभा सत्र में सरकार उतरेगी, मंत्रियों के साथ विधानसभा अध्यक्ष सचेतक और उप- सचेतक का चयन भी होना है, इनमें शांति धारीवाल, सीपी जोशी, दीपेंद्र सिंह शेखावत, प्रमोद जैन भाया ,जाहिदा खान, रघु शर्मा, भरत सिंह, मास्टर भंवरलाल ,राजेंद्र पारीक भंवर लाल शर्मा, महेश जोशी, परसराम मोरदिया, बृजेंद्र ओला ,अशोक बैरवा, खिलाड़ी राम बैरवा, डॉ जितेंद्र सिंह, महेंद्रजीत सिंह मालवीय, गोविंद सिंह दोतासर, प्रताप सिंह खाचरियावास, परसादी लाल ,बीडी कल्ला, दयाराम परमार हेमाराम और हरीश चौधरी को शामिल किया जा सकता है।
संभावित मंत्रिमंडल गठन के बाद 1 से 2 महीने के अंदर मंत्रिमंडल के विस्तार किए जाने की संभावना है, 30 मंत्री मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं दूसरी बार में ऐसे 10 मंत्रि और बनाए जा सकते हैं इसके अलावा 10 संसदीय सचिव चुने जाने बाकी है।
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment