Exit Poll - क्या कांग्रेस छीन सकती है राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश और छत्‍तीसगढ़

Exit poll result

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए शुक्रवार को मतदान हुआ। राज्य की कुल 200 में से 199 सीटों पर छिटपुट घटनाओं को छोड़ मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया। रामगढ़ सीट पर बसपा प्रत्याशी के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिया गया है।

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों के बाद शुक्रवार को कई टीवी चैनलों ने अपने अपने एग्जिट पोल दिखाए, जिसमें कांग्रेस को बढ़त मिलती हुई दिख रही है जबकि बीजेपी को झटका लगता हुआ दिख रहा है. विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे, लेकिन उससे पहले आए एक्जिट पोल में बीजेपी के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं.

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान की सत्ता पर काबिज बीजेपी की विदाई होती नजर आ रही है. जबकि कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करती दिख रही है. आपको बता दें कि इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया के एग्जिट पोल में मध्य प्रदेश में कांग्रेस को बढ़त लेते दिखाया गया है.

एक्जिट पोल में कांग्रेस को 104 से 122 सीटों पर जीतते हुए दिखाया है, जबकि BJP को 102 से 120 सीटों पर जीत मिलने का अनुमान जताया गया है. राज्य में मुकाबला दोनों राष्ट्रीय पार्टियों के बीच दिख रहा है और अन्य दलों को महज 4 से 11 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है.

एग्जिट पोल पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अश्विनी कुमार ने कहा कि पांचों राज्यों में कांग्रेस का ग्राफ बढ़ा और बीजेपी का घटा है. कांग्रेस जीतेगी और बीजेपी हारेगी.

वही बीजेपी के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को कहा, 'मैं अभी प्रतिक्रिया नहीं दूंगा, क्योंकि एक्जैक्ट नतीजे 11 दिसंबर को आएंगे. उसी दौरान चर्चा करना ठीक रहेगा. हमें नतीजों का इंतजार करना चाहिए.' उन्होंने कहा कि कई बार ऐसा हुआ है जब एग्जिट पोल के नतीजे पलट गए हैं, इसलिए हमें 11 दिसंबर को आने वाले परिणाम का इंतजार करना चाहिए.

एग्जिट पोल ने छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम में जीत के जश्न को और उलझा दिया है. मध्‍य प्रदेश में बीजेपी की वापसी की संभावना जताई जा रही है. जबकि राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ में कुछ पोल दोनों पार्टियों में कांटे की टक्‍कर बता रहे हैं तो कुछ कांग्रेस की सरकार बनवा रहे हैं. इस वक्त तेलंगाना और मिजोरम को छोड़ दिया जाए, तो बाकी तीन राज्यों राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में बीजेपी की सरकार है और इस बार इन तीनों राज्यों में कांग्रेस और बीजेपी के बीच मुख्य मुकाबला माना जा रहा है.

मतदान ईवीएम और वीवीपैट मशीनों से कराया गया। मतगणना 11 दिसंबर को होगी। कहीं एवीएम मशीन की गड़बड़ी, कहीं बूथ कैप्चरिंग का प्रयास तो कहीं मारपीट और अन्य विवादों से तनाव, लेकिन यह सभी मतदाताओं के उत्साह को ज़रा भी कम नहीं कर सकी| सुबह की कमज़ोर शुरुआत के बाद मतदान ने आखिरी दौर में तेज़ी पकड़ी। शाम पांच बजे बजते बजते मतदान प्रतिशत करीब 72 प्रतिशत तक पहुंच गया।

- राजधानी जयपुर सहित अन्य कई जगहों पर ईवीएम मशीनों में तकनीकी खराबी के कारण कुछ देर के लिए मतदान शुरु करने में देरी हुई लेकिन मशीनों को दुरुस्त एवं बदलकर मतदान को शुरु कराया गया।

-  मतदाताओं में काफी उत्साह नजर आया और शाम पांच बजे तक भी मतदान केन्द्रों पर लम्बी-लम्बी कतारे देखने को मिली।

सीएम राजे ने मीडिया से कहा कि इस बार भी चुनाव में भाजपा की जीत तय हैं क्योंकि लोग विकास को लेकर मतदान कर रहे हैं। वहीं गहलोत ने दावा करते हुए कहा कि कांग्रेस भारी बहुमत के साथ सरकार बनायेगी। इसी तरह पायलट ने कहा कि रोजगार, किसान, गरीब आदि मुद्दों को लेकर मतदान हुआ और उन्हें पूरी उम्मीद हैं कि कांग्रेस की सरकार बनेगी जो जनता की सरकार होगी।

जयपुर से प्रकाशित एवं प्रसारित न्यूज़ पेपर

दैनिक चमकता राजस्थान

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News
post business listing – INDIA
Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Google Plus
Share on Google Plus

About Team CR

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment