अब महिला मुखिया के नाम से ही बनेगे नए राशनकार्ड

अब महिला मुखिया के नाम से ही बनेगे नए राशनकार्ड - राशनकार्ड में मुखिया के रूप में महिलाओं का नाम दर्ज करने का अभियान जल्द शुरू होने वाला है। प्रदेश में कांग्रेस सरकार का गठन होने के बाद महिलाओं को समाज की धुरी से जोडऩे के मकसद से खाद्य विभाग ने पहला बड़ा फैसला किया है. इसके तहत राज्य में नए बनने वाले राशन कार्डों में अब परिवार की बड़ी महिला मुखिया बनेगी. खाद्य एवं रसद आपूर्ति विभाग की तरफ से जयपुर जिले में नए राशन कार्ड बनाए जाने हैं। मौजूदा प्रचलन वाले राशन कार्डों की मियाद खत्म होने वाली है। अब नए राशन कार्ड महिलाओं के नाम पर बनेंगे। नए निर्देशों के अनुसार अब जो राशन कार्ड बनाए जाएंगे, उनमें महिलाओं को विशेष वरीयता दी जाएगी. महिलाओं को घर की मुखिया मानते हुए राशन कार्ड उनके नाम से बनाए जाएंगे. जो राशन कार्ड बनेंगे, उनमें पुरुषों की जगह महिला मुखिया होगी तथा राशन कार्ड बनने के बाद राशन से संबंधित सभी गतिविधियों पर महिला मुखिया की उपस्थिति ही मान्य होगी. प्रदेश सरकार की इस योजना से ग्रामीण महिलाओं में खुशी की लहर है|

अब महिला मुखिया के नाम से ही बनेगे नए राशनकार्ड

राज्य में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के माध्यम से कुल 20597773 राशन कार्ड बने हुए हैं. इनमें से ग्रामीण क्षेत्र में 15820853, शहरी क्षेत्र में 4776920, अन्नपूर्णा योजना में 8966, अंत्योदय योजना में 683675, बीपीएल श्रेणी में 2523563, स्टेट बीपीएल श्रेणी में 642520 अन्य श्रेणी में 16739049 राशन कार्ड बने हुए हैं.

अब महिला मुखिया के नाम से ही बनेगे नए राशनकार्ड - राशन कार्ड जिला स्तर पर तैयार किया जाएगा। अब पति की जगह पत्नी का नाम राशन कार्ड पर दर्ज किया जाएगा. जिन पुरुषों के पत्नी नहीं है उनके राशन कार्ड पुराने मानक से ही बनेंगे. परिवार में अगर कोई महिला 18 वर्ष की नहीं है तो पुरुष को गृहस्थ मुखिया बनाया जाएगा। लेकिन 18 वर्ष की होते ही युवती का नाम घर की मुखिया के रूप में दर्ज हो जाएगा। राशन कार्ड पर महिलाओं को मुखिया बनाने की योजना से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं की सामाजिक स्थिति में बदलाव आएगा.

कर्मचारी घर-घर जाकर सर्वे के बाद फार्म भरवाएंगे। इस दौरान महिला मुखिया को अपना कोई पहचान पत्र देना होगा। बैंक स्टेटमेंट की फोटोकॉपी भी फार्म के साथ लगानी होगी। महिला मुखिया के नाम से फॉर्म भरने के बाद घर के अन्य सदस्यों का विवरण दर्ज होगा। महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए खाद्य सुरक्षा अधिनियम में उनके नाम से राशनकार्ड बनाए जाने की योजना तैयार की गई है। इससे पहले भामाशाह योजना में भी महिलाओं को मुखिया बनाया गया है।

अब महिला मुखिया के नाम से ही बनेगे नए राशनकार्ड - राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के आलोक में पात्र परिवारों को राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा। खाद्य सुरक्षा अधिनियम की धारा 13(1) एवं (2) में कहा गया है कि प्रत्येक परिवार में 18 वर्ष से कम आयु के महिला सदस्य की मौजूदगी में गृहस्थी का मुखिया पुरुष होगा। जबकि, महिला सदस्य के 18 वर्ष की आयु के होते ही राशन कार्ड की गृहस्थ मुखिया महिला बन जाएगा। यानि की राशन कार्ड की गृहस्थी मुखिया महिला बनाई जाएगी।

खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत जैसे ही सर्वे काम पूरा हो जाएगा तो पुराने बने राशनकार्ड कैंसिल हो जाएंगे। पूर्ति विभाग के निरीक्षक दिलीप कुमार का कहना है कि जो नए कार्ड बन रहे हैं उसके प्रिंटआउट में यह स्पष्ट लिखा हुआ है कि खाद्य सुरक्षा अधिनियम के लागू होने के बाद पुराने राशनकार्ड अमान्य हो जाएंगे। इसके बाद खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत बने कार्ड की मान्य रहेंगे।

वर्तमान स्थिति  

  1. वर्तमान समय अंतोदय,एपीयल, बीपीयल कार्ड से कार्डधारको को कार्ड को अनूसार राशन दिया जाता था | 
  2. अंतोदय कार्ड धारक को 100 रुपए में 35 किलो राशन दिया जा रहा है| 
  3. बीपीएल कार्ड धारको 35 किलो राशन मिलने का प्रावधान है | 
  4. एपीएल कार्ड धारक को केरोसिन तेल प्राप्त होता है| आधार कार्ड और बैक खाता न होने से आ रही है कई समस्याएँ 

ये होंगे बदलाव 

  1. अंतोदय, एपीएल, बीपीएल कार्ड को बंद करके नए एक ही तरीके के कार्ड महिला मुखिया के नाम से बनाए जाएंगे| परिवार का मुखिया कार्ड के पात्र हैं या नहीं उसके लिए मानक निर्धारित किया जाएगा| मानक के अंतर्गत आने वाले परिवार को ही कार्ड दिया जाएगा| 
  2. पाँच सदस्यीय परिवार को मान्यता दी जाएगी| 
  3. कार्ड उन्ही परिवार के मुखिया का बनेगा जिसकी परिवार की वार्षिक आय दो लाख के अंदर होगी| 
  4. पाँच किलो राशन परिवार के हर यूनिट को दिया जाएगा| यानी पांच सदस्यीय परिवार को 25 किलो राशन दिया जाएगा| 
  5. गेहूं दो रुपए किलो और चावल तीन रुपए किलो दिया जाएगा|
  6. परिवार की महिला मुखिया का आधार नंबर और बैक अकाउंट को राशन कार्ड के साथ जोड़ा जा रहा है | जिसके जरिये भविष्य में कार्ड धारकों के अकाउंट में सब्सिडी पाहुचायी जा सके|


दैनिक चमकता राजस्थान

Dainik Chamakta Rajasthan e-paper Publishing from Jaipur Rajasthan

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News
post business listing – INDIA
Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Google Plus
Share on Google Plus

About Team CR

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment