लोकसभा, राज्यसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही स्थगित

लोकसभा, राज्यसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही स्थगित - संसद के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन गुरुवार को भी विभिन्न मुद्दों पर हंगामे की वजह से दोनों सदन की कार्यवाही बाधित रही. राफेल से लेकर कावेरी नदी पर बांध के मुद्दे को लेकर लोकसभा और राज्यसभा में जोरदार हंगामा हुआ. इसके अलावा लोकसभा में शिवसेना सांसद ने केंद्र सरकार से जल्द अयोध्या में राम मंदिर निर्माण करवाने की मांग की. लोकसभा में स्पीकर ने शिवसेना सदस्यों को शून्य काल के दौरान मुद्दे को उठाने की अनुमति दी। शिवसेना के आनंद राव अडसुल ने मांग की कि सरकार को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए अगले आम चुनाव से पहले अध्यादेश लाना चाहिए।
लोकसभा, राज्यसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही स्थगित

अडसुल ने शून्यकाल के दौरान सदन में राम मंदिर का मुद्दा उठाते हुए कहा कि मौजूदा सरकार को साढ़े चार साल बीत गए और अब तक मंदिर को लेकर कोई पहल नहीं की गई। उन्होंने कहा कि पहले की बीजेपी सरकारें कई सहयोगी दलों पर निर्भर थीं, लेकिन इस सरकार के पास पूर्ण बहुमत है और उसे राम मंदिर पर विलंब नहीं करना चाहिए। जैसे ही अडसुल ने अपनी बात पूरी की। महाजन ने सदन की कार्यवाही को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया।

वही कांग्रेस सांसदों की ओर से लोकसभा में राफेल डील, आरबीआई और नोटबंदी के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव पेश किया गया था। कांग्रेस राफेल मुद्दे पर मोदी सरकार को संसद में घेरने की कोशिश कर रही है। तृणमूल कांग्रेस भी राज्यसभा में आरबीआई और अन्य स्वायत्त संस्थाओं की स्वतंत्रता पर खतरे को लेकर चर्चा की मांग कर चुकी है। बुधवार को विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्रवाई दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई थी।

लोकसभा, राज्यसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही स्थगित - सदन ने 13 दिसंबर, 2001 के संसद हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि दी। दिवंगत पूर्व सदस्य एम एच अम्बरीश को भी श्रद्धांजलि दी गई। सुमित्रा महाजन ने जैसे ही प्रश्नकाल शुरू किया तभी कांग्रेस, शिवसेना, TDP और अन्नाद्रमुक के सदस्य नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के पास पहुंच गए। कांग्रेस सदस्य हाथों में तख्तियां लिए हुए राफेल मामले की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) के गठन की मांग कर रहे थे और ‘वी डिमांड जेपीसी’ के नारे लगा रहे थे।

हंगामे के बीच ही लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने उपग्रहों की सफल लॉन्चिंग पर इसरो के वैज्ञानिकों को बधाई दी. उन्होंने सदन की ओर से राज्यसभा सदस्य और मुक्केबाज एम सी मैरीकॉम को हाल ही में विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप जीतने पर भी बधाई दी. शोर-शराबे के बीच ही स्पीकर ने आवश्यक कागजात सदन के पटल पर रखवाए. सदस्यों की नारेबाजी के बीच ही सरकार ने बांध सुरक्षा विधेयक, 2018 को भी सदन में रखा. इसके बाद हंगामा थमता नहीं देख अध्यक्ष महाजन ने सदन की बैठक को दोपहर करीब 12:15 बजे पूरे दिन के लिए स्थगित कर दिया.

वहीं, राज्यसभा में आप सांसद संजय सिंह ने दिल्ली में सीलिंग के मुद्दे पर चर्चा के लिए नोटिस दिया। यह मोदी सरकार में संसद का अंतिम पूर्णकालिक सत्र है। ऐसे में सरकार पूरा जोर अहम बिल पास कराने पर है।

लोकसभा, राज्यसभा में भारी हंगामा, कार्यवाही स्थगित - दोनों सदनों की कार्यवाही को शुक्रवार तक के लिए स्थगित करना पड़ा. शीतकालीन सत्र की शुरुआत से पहले लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने भी विपक्ष से संसदीय कार्यवाही में रुकावट नहीं डालने की अपील की थी। उन्होंने महिला आरक्षण बिल पास कराने को लेकर विपक्ष से सहयोग करने की बात कही थी। हालांकि मंगलवार को ऑल पार्टी मीटिंग में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने संसद में राफेल डील और सीबीआई-ईडी जैसी जांच एजेंसियों के गलत इस्तेमाल का मुद्दा उठाने की बात कही थी। राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने भी राफेल डील की जांच के लिए ज्वाइंट पार्लियामेंट्री कमेटी (जेपीसी) के गठन की मांग की है। सरकार इस पर चर्चा के लिए तैयार हो सकती है। प्रधानमंत्री मोदी भी संसद में खुली बहस की बात कह चुके हैं।

जयपुर से प्रकाशित एवं प्रसारित न्यूज़ पेपर

दैनिक चमकता राजस्थान

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News
post business listing – INDIA
Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Google Plus
Share on Google Plus

About Team CR

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment