ईपीएफ से उठाएं ज्यादा फायदा

                                                     ईपीएफ से उठाएं ज्यादा फायदा
ईपीएफ से उठाएं ज्यादा फायदा
ज्यादा कर्मचारियों को भविष्य निधि (ईपीएफ) योजना के दायरे में लाने की दिशा में काम रही है। इस योजना में कम खर्च पर पीएफ अंशधारकों को ज्यादा सुविधाएं मुहैया कराने के उपाय किए गए हैं।

कुछ कंपनियां नौकरी देने से पहले कर्मचारी से भविष्य निधि योजना में शामिल होने का विकल्प पूछती हैं। हालांकि कानूनन यह गलत है लेकिन हकीकत यह है कि जब से श्रम कानूनों को लचीला बनाया गया है तब से कुछ कंपनियां अपने सभी कर्मचारियों को यह सुविधा नहीं देतीं।

ऐसे में यदि आपको नई नौकरी में पीएफ योजना में शामिल होने का विकल्प मिल रहा इसे जरूर स्वीकार करना चाहिए। भविष्य की आर्थिक सुरक्षा के लिए यह बहुत ही कारगर योजना है।

इसीलिए सरकार इस योजना को प्रोत्साहन दे रही है। यदि सूझबूझ के साथ कदम उठाएं तो इस योजना से और ज्यादा फायदा उठाया सकते हैं जिसके रिटायरमेंट के बाद चैन की बंसी बजा सकते हैं।

कैसे उठाएं ज्यादा फायदा

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने चालू वित्त वर्ष के लिए पीएफ पर ब्याज दर को 8.55 से बढ़ाकर 8.65 फीसद कर दिया है।

देखने में यह वृद्धि भले ही कम लगे लेकिन बड़ी रकम और लंबी अवधि में यह काफी उपयोगी साबित होती है। यदि निवेश के अन्य सुरक्षित विकल्पों से तुलना करें तो बैंकों की एफडी पर फिलहाल सात से 7.50 फीसद ब्याज मिल रहा है।

लघु बचत योजनाओं के तहत पीपीएफ और एनएससी पर निवेश में सालाना आठ फीसद ब्याज मिल रहा है। इस हिसाब से दखें तो ईपीएफ पर 8.65 फीसद का ब्याज अन्य विकल्पों की तुलना में काफी आकर्षक माना जा सकता है।

खास बात यह है कि रिटायरमेंट के समय मिलने वाली यह रकम पूरी तरह टैक्स फ्री होगी। ऐसे में ईपीएफ में स्वैच्छिक भविष्य निधि यानी वीपीएफ योजना के तहत ज्यादा अंशदान करके ऊंची ब्याज दर का फायदा उठाया जा सकता है।

                                            ईपीएफ से उठाएं ज्यादा फायदा
कोई भी कर्मचारी अपने एचआर विभाग में संपर्क करके वीपीएफ के तहत कटौती का विकल्प चुन सकता है। यह रकम आपके पीएफ खाते में ही जुड़ती रहेगी। हालांकि वीपीएफ के तहत कटने वाली रकम में कंपनी की ओर से कोई अंशदान नहीं किया जाएगा।

पिछले आंकड़ों पर गौर करें तो ईपीएफ में सरकारी लघु बचत योजनाओं की तुलना में हमेशा बेहतर ब्याज मिला है। ऐसे में भविष्य की आर्थिक सुरक्षा के लिए इस योजना पर विचार किया जाना चाहिए।किसके लिए उपयोगी नियमों के तहत संगठित क्षेत्र के नौकरीपेशा लोग ही वीपीएफ योजना में शामिल हो सकते हैं।

जो कर्मचारी आयकर के दायरे में आते हैं उनके लिए यह बेहतरीन योजना है। आयकर की धारा 80सी के तहत ईपीएफ में 1.5 लाख रपए तक के निवेश पर टैक्स में छूट का लाभ मिलता है। वीपीएफ के तहत अंशदान के जरिए कर छूट का ज्यादा लाभ उठाया जा सकता है।

यदि आप इस विकल्प को चुनते हैं तो इसके जरिए एक साथ कई लक्ष्यों को हासिल कर सकते हैं। इस योजना का सबसे पहला फायदा यह है कि इस निवेश पर अन्य सभी योजनाओं की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलेगा। दूसरा, महंगाई के दौर में रिटायरमेंट के लिए एक साथधन की व्यवस्था कर पाना आसान नहीं है।

पीएफ में अंशदान बढ़ाकर बुढ़ापे के लिए बड़ी रकम जोड़ी जा सकती है। सबसे अहम पहलू यह है कि एनएससी, एफडी और पीपीएफ में निवेश के लिए अलग से औपचारिकताएं पूरी करनी पड़ेंगी जबकि वीपीएफ में हर माह वेतन से पैसा कट जाएगा। जाहिर यह निवेश सबसे आसान है।

इसके लिए अलग से कोई मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी। आमतौर पर यह रकम रिटयरमेंट के लिए ही होती है। ऐसे में इसके अन्य मदों में खर्च होने की संभावना कम ही होती है। रिटायरमेंट के लिए बड़ी संख्या में लोग पीपीएफ पर ज्यादा भरोसा करते हैं लेकिन इस खाते में सालाना अधिकतम 1.5 लाख रपए ही जमा कराए जा सकते हैं लेकिन वीपीएफ में इस तरह की कोई बंदिश नहीं है।कैसे होगा फायदा मौजूदा दौर में आकर्षक रिटर्न के लिए म्यूचुअल फंड निवेश का सबसे बढ़िया विकल्प है।

इसका रिटर्न पूंजी बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करता है। इसमें ऐसी बड़ी संख्या में योजनाएं हैं जिनमें लंबी अवधि में सालाना 20 फीसद से ज्यादा का रिटर्न मिला है।

ईपीएफओ अपने अंशधारकों को शेयर बाजार की तेजी का लाभ दिलाने के लिए 15 फीसद तक हिस्सा ईटीएफ में निवेश कर रहा है।

इस योजना से छह करोड़ अंशधारकों को बेहतर रिटर्न मिल सकता है। फिलहाल निवेश के लिए एसआईपी आकर्षक विकल्प है।

पीएफ का ईटीएफ में निवेश भी सिप की तरह का करेगा। उदाहरण के लिए यदि किसी कर्मचारी का 1,00,000 रपए जमा हैं तो 85,000 रपए पर मौजूदा 8.65 फीसद की दर से एक साल में 7350 रपए का ब्याज मिलेगा। ईटीएफ में यदि 15 फीसद रिटर्न मानकर चलें तो 15,000 रपए पर 2250 रपए का रिटर्न मिलेगा।

ऐसे में एक साल का कुल रिटर्न 9600 रपए बनता है। जो सामान्य स्थिति में 8650 रपए की तुलना में बेहतर है। बड़ी रकम पर लंबी अवधि में यह फायदा कई गुना तक बढ़ सकता है।

दैनिक चमकता राजस्थान
Dainik Chamakta Rajasthan e-paper and Daily Newspaper, Publishing from Jaipur Rajasthan



सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment