हिमाचल में बारिश के कहर से 21 लोगों की मौत

धर्मशाला।
हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश ने खूब तबाही मचाई है। रातभर हुई बारिश के कारण 21 लोगों की मौत हो गई है। प्रदेश में 800 से ज्यादा सड़कें व 13 राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हैं। कुल्लू में दो पुल टूट गए हैं।

 मौसम विभाग ने प्रदेश के छह जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है। मंडी, कांगड़ा, शिमला, सोलन, सिरमौर व बिलासपुर में भारी बारिश हो सकती है। सिरमौर, सोलन, शिमला, बिलासपुर व कुल्लू में सोमवार को शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। पांच जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।
जिला कुल्लू में भारी बारिश के बाद ब्यास में बाढ़ में बेली ब्रिज का एक हिस्सा बह गया। प्रशासन ने शनिवार को ही इस पुल से आवाजाही बंद करवा दी थी। जिला मंडी में ब्यास अपना रौद्र रूप दिखा रही है। ब्यास में आई बाढ़ में पंचवक्त्र मंदिर डूब गया है व कई वाहन नदी के तेज बहाव में समा गए हैं। बिलासपुर जिला के कठलग गांव में जमीन धंसने से सात घर जमींदोज हो गए हैं। गनीमत रही कि ग्रामीणों को जमीन धंसने का आभास हो गया, अन्यथा भारी जानी नुकसान हो सकता था। सभी लोगों ने आधी रात को भागकर जान बचाई। ऊना जिला के संतोषगढ़ में घरों व अस्पताल में बारिश का पानी भर गया है।
चंबा जिला का संपर्क शेष दुनिया से कटा हुआ है। कुल्लू का संपर्क भी आधी रात से कट गया है। चंबा व कुल्लू में किसी भी तरह के जरूरी सामान की सप्लाई नहीं हो पाई है। बिलासपुर जिला के काठलग में जमीन धंसने के कारण सात मकान जमींदोज हो गए। इस दौरान एक जगह सुरक्षित रुके सात परिवारों के सदस्यों को रेस्क्यू करते लोग।  शिमला में आठ लोगों की मौत हो गई है।
12 से लोग घायल हो गए हैं। राजधानी के आरटीओ कार्यालय के पास बारिश के कारण हुए भूस्खलन में एक घर दब गया, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों में विशाखा 15 साल, दिव्या 18 साल हरि दास 40 साल शामिल हैं। मलबे में दबी महिला कृष्णा की तलाश जारी है। हादसे का शिकार हुआ परिवार जिला सोलन के अर्की धुंधन का रहने वाला है। क्षतिग्रस्त हुए भवन में दो परिवार रहते थे लेकिन एक परिवार हादसे से पहले ही सही सलामत बाहर निकल गया था। वहीं पुलिस थाना ढली में नए निर्माणाधीन भवन के पीछे की दीवार गिर जाने के कारण पत्थर भवन के अंदर घुस गए और कमरे में सो रहे सात व्यक्ति बुरी तरह घायल हो गए। जिला कुल्लू में भारी बारिश के बाद ब्यास में आई बाढ़ के कारण बहा मनाली मार्ग का एक हिस्सा।
इस कारण वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई है।  आइजीएमसी में उपचार के दौरान सालम 32 वर्ष की मौत हो गई। रोहडू हाटकोटी के समीप पहाड़ी से चट्टान गिरने से ट्रक ड्राइवर की मौत हो गई। जुब्बड़ हट्टी के समीप चनौग गांव में सुबह करीब 7:30 बजे गोशाला के लिए दूध लेने गई थी कि अचानक भूस्खलन के कारण वह मलबे में दब गई।
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment