महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव

नई दिल्ली ।

चुनाव आयोगों की तारीखों का ऐलान हो गया है। मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने प्रेस सम्मेलन में सबसे पहले देशवासियों ने माफी मांगी और कहा कि हमने आपका शनिवार बर्बाद कर दिया।

चुनाव आयोग ने हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए कहा कि महाराष्ट्र में 8.9 करोड़ और हरियाणा में 1.28 करोड़ मतदाता हैं। आपको बता दें कि हरियाणा और महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव होंगे और 24 अक्टूबर के दिन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला होगा यानि चुनाव परिणाम घोषित होंगे।
यहां देखें चुनाव का पूरा शेड्यूल...
8नॉटिफिकेशन की तारीख: 27 सितंबर
8नामांकन की आखिरी तारीख: 4 अक्टूबर
8स्कूटनी की तारीख: 5 अक्टूबर
8नामांकन वापसी की तारीख: 7 अक्टूबर
8चुनाव प्रचार का आखिरी दिन: 19 अक्टूबर
8मतदान: 21 अक्टूबर
8चुनाव परिणाम: 24 अक्टूबर
8साल 2014 में दोनों राज्यों में 15 अक्टूबर को मतदान हुए थे और चुनाव परिणाम 19 अक्टूबर को आए थे। जिसके बाद हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर ने तो महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।
चुनाव आयोग की बड़ी बातें
महाराष्ट्र और हरियाणा में 21 अक्टूबर को होंगे चुनाव और 24 अक्टूबर को वोटों की गिनती होगी।
अरुणाचल की 1, असम की 4, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 1, गुजरात की 4, हिमाचल प्रदेश की 2, कर्नाटक की 15, केरल की 5, मध्य प्रदेश की 1, मेघालय की 1, राजस्थान की 2, सिक्किम की 3, तमिलनाडु की 2, तेलंगाना की 1 और यूपी की 11 सीटों पर 21 अक्टूबर को ही उपचुनाव होंगे और सभी सीटों के नतीजे महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव के साथ घोषित होंगे।
मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि महाराष्ट्र के गढ़चिरौली और गोंदिया में विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जाएगी।
अलग-अलग राज्यों की 64 विधानसभा सीटों पर भी होंगे उपचुनाव।
सुनील अरोड़ा ने कहा कि अगर कोई उम्मीदवार अपने आपराधिक रिकॉर्ड की जानकारी नहीं देता है तो उसका पर्चा रद्द कर दिया जाएगा।
 प्रदेश की दो सीटों पर भी उपचुनाव होंगे
जयपुर (एजेंसी)। राज्य की दो सीटों पर उप चुनाव की घोषणा शुक्रवार को चुनाव आयोग के सीईसी सुनील अरोड़ा द्वारा की गई। 21 अक्टूबर को चुनाव होंगे। वहीं 24 अक्टूबर को परिणाम सामने आएंगे। देशभर की कुल 64 सीटों पर उपचुनाव की घोषणा की गई है। बता दें कि राजस्थान में मंडावा और खींवसर विधानसभा सीट पर उप चुनाव होना है। 2018 विधानसभा चुनाव में खींवसर से हनुमान बेनिवाल और मंडावा से नरेंद्र खींचड़ विधायक बने थे। जिसके बाद हनुमान बेनिवाल के नागौर सीट से और नरेंद्र खींचड़ के झुंझुनू सीट से लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद दोनों सीटें खाली हो गई थी। बता दें कि खींवसर सीट हनुमान बेनिवाल का गढ़ मानी जाती है। वे यहां से तीन बार विधायक भी रह चुके हैं। वहीं मंडावा सीट पर भी भाजपा का दबदबा रहा है। 
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment