रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भरी तेजस में उड़ान

बेंगलूरु ।
 तेजस लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एलसीए) में पहली बार रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को बेंगलूरु से उड़ान भरी। राजनाथ तेजस में उड़ान भरने वाले देश के पहले रक्षामंत्री बन गए हैं।

दो सीट वाले प्रशिक्षण विमान में बेंगलूरु स्थित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लि. हवाईअड्डे से सुबह 9.58 बजे रवाना होकर 30 मिनट की उड़ान भरी। वह फाइटर जेट में आगे की सीट पर पायलट के साथ बैठे थे। देश में बना तेजस हल्के वजन का है और मिसाइल गिराने की अचूक क्षमता रखता है। राजनाथ ने फाइटर जेट को रनवे पर ले जाने से पहले कर्नाटक हवाईअड्डे पर भीड़ का अभिवादन भी किया। एचएएल और डीआरडीओ द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए राजनाथ बेंगलूरु के लिए बुधवार को ही रवाना हो गए थे।
राजनाथ से पहले भी दो रक्षामंत्री और एक राज्यमंत्री ने भी लड़ाकू विमान में उड़ान भरी है। तीनों ने ही सुखोई-30 से उड़ान को अंजाम दिया। जून, 2003 में देश के तत्कालीन रक्षामंत्री जॉर्ज फर्नांडीस ने पुणे के लोहगांव वायुसेना अड्डे से सुखोई-30 में उड़ान भरी थी। वह उस समय 73 वर्ष के थे। मई, 2016 में तत्कालीन केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने पंजाब के हलवारा एयरबेस से सुखोई-30 एमकेआई से उड़ान भरी थी। उनकी यह उड़ान करीब 30 मिनट की थी। यह सुपरसोनिक जेट 2100 किलोमीटर प्रतिघंटे की अधिकतम रफ्तार से 56,800 फीट की ऊंचाई तक जा सकता है। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने जनवरी, 2018 में जोधपुर के एयरफोर्स बेस से सुखोई-30 लड़ाकू विमान में उड़ान भरी थी। सुखोई को वायुसेना के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक माना जाता है। फरवरी, 2017 में एयरो इंडिया शो के दौरान केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल में को-पायलट के रूप में 35 मिनट की उड़ान भरी थी। रूडी ट्रेंड और स्किल्ड पायलट हैं। वह ए-320 समेत कई विमान उड़ा चुके हैं।
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment