विराट की नाकामी भारी



नई दिल्ली

दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज और भारतीय कप्तान विराट कोहली की न्यूजीलैंड दौरे में बल्ले से नाकामी टीम इंडिया को भारी पड़ रही है। विराट न्यूजीलैंड दौरे में अपनी प्रतिष्ठता से कोसों दूर हैं और यही वजह है कि टीम इंडिया को वनडे सीरीज में 0-3 से और वेङ्क्षलगटन में पहले टेस्ट में 10 विकेट की करारी हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि इससे पहले भारत ने टी-20 सीरीज 5-0 के रिकॉर्ड अंतर से जीती थी लेकिन उस समय टीम में रोहित शर्मा जैसे अनुभवी बल्लेबाज मौजूद थे जो टीम को संभाल रहे थे।
टी-20 सीरीज के बाद लगातार असफल
विराट ने इस दौरे में टी-20 सीरीज में 45, 11, 38 और 11 रन, वनडे सीरीज में 51, 15 और नौ रन तथा पहले टेस्ट मैच में दो और 19 रन बनाए। यह स्कोर उस बल्लेबाज की प्रतिष्ठा से मेल नहीं खाते हैं जिसका लोहा पूरी दुनिया मानती है। हालांकि वेङ्क्षलगटन में सवा तीन दिन में मैच 10 विकेट से हारने के बाद विराट ने संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि एक हार से टीम खराब नहीं हो जाती और मात्र स्कोर से उनकी बल्लेबाजी का अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। उन्होंने कहा था कि उनकी बल्लेबाजी ठीक है और केवल कुछ समय क्रीज पर गुजारने की बात है।
यह दिलचस्प है कि वनडे सीरीज में विराट का बल्ला लगभग खामोश रहा था इसके बावजूद वह हेमिल्टन में न्यूजीलैंड एकादश के खिलाफ बल्लेबाजी अभ्यास करने नहीं उतरे।
लोकेश राहुल को बाहर बैठाने पर भी सवाल
दोनों ओपनर पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल टीम को अच्छी शुरुआत नहीं दे पाए। यह हैरानी की बात है कि न्यूजीलैंड दौरे में सबसे शानदार फॉर्म दिखाने वाले बल्लेबाज लोकेश राहुल को टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया। रोहित शर्मा चोट के कारण जब टेस्ट टीम से बाहर हो गए थे तो उनकी जगह शुभमन गिल को शामिल किया गया था जबकि अपनी फॉर्म के कारण राहुल टेस्ट टीम में जगह बनाने के दावेदार थे। राहुल ने टी-20 सीरीज में 56, नाबाद 57, 27, 39 और 45 तथा वनडे में नाबाद 88, चार और 112 रन बनाए थे। यह समझना मुश्किल है कि टीम प्रबंधन ने राहुल को टेस्ट टीम से बाहर क्यों रखा। राहुल टीम को ओपङ्क्षनग में या फिर मध्यक्रम में दोनों ही जगह मजबूती दे सकते थे। राहुल के रहने से विराट के ऊपर से भी भार कम हो जाता।

Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment