कोरोना वायरस से अब तक 110 व्यक्ति संक्रमित......

कोरोना वायरस से  अब तक 110 व्यक्ति संक्रमित लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले

लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले, अब तक 110 व्यक्ति संक्रमित






उत्तराखंड में कोरोना वायरस का पहला मामला दर्ज किये जाने और महाराष्ट्र एवं उत्तर प्रदेश में एक-एक मामले की पुष्टि होने के साथ भारत में इस विषाणु से संक्रमित मरीजों की संख्या रविवार को बढ़ कर 110 हो गई। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी। कुल संख्या में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए वे दो मरीज भी शामिल हैं, जिनकी दिल्ली और कर्नाटक में मौत हो चुकी है। हाल ही में सऊदी अरब से लौटे कर्नाटक के कलबुर्गी निवासी 76 वर्षीय व्यक्ति की बृहस्पतिवार को मौत हो गई थी। इसके अलावा दिल्ली में रहने वाली 68 वर्षीय एक महिला कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई थी, जिसकी शुक्रवार रात राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मौत हो गई। उत्तराखंड में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि हुई। दिल्ली में कोरोना वायरस के अब तक सात मामले सामने आ चुके हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में 12, कर्नाटक में छह, महाराष्ट्र में 33, लद्दाख में तीन और जम्मू-कश्मीर में दो लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। इसके अलावा तेलंगाना में तीन और राजस्थान में दो मामले सामने आए हैं। तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पंजाब में कोरोना वायरस से संक्रमण के एक-एक मामले दर्ज किये गये हैं। केरल में कोरोना वायरस के सबसे अधिक 22 मामले सामने आए हैं। इनमें वे तीन लोग भी शामिल हैं, जिन्हें पिछले महीने इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी। मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि कुल 110 संक्रमित लोगों में 17 विदेशी हैं। इनमें 16 इतालवी हैं। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, केरल के तीन मरीजों सहित इलाज के बाद अब तक 13 लोगों को छुट्टी दे दी गई है। भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने लोगों को से कहा कि वायरस का कोई वायरस का सामुदायिक संचरण नहीं देखा गया है। भारत में स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति अभी नहीं आयी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोविड-19 को महामारी घोषित कर दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि 93 संक्रमित लोगों के संपर्क में आए 4,000 से अधिक लोगों की पहचान की गई है । उनका पता लगाया जा रहा है, जबकि देश भर में 42,000 लोगों को सामुदायिक निगरानी में रखा गया है।  उन्होंने कहा कि सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सामुदायिक निगरानी, पृथक केंद्र, पृथक वार्ड, पर्याप्त व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई), प्रशिक्षित कर्मचारी, त्वरित प्रतिक्रिया दल जैसी सभी आवश्यक सुविधाओं को और मजबूत किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अब तक 30 हवाई अड्डों पर 12,76,046 यात्रियों की जांच की जा चुकी है। मंत्रालय के अनुसार स्वास्थ्य सुरक्षा कर्मचारियों के लिए 80,50,000 एन95 मास्क और व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण की खरीद का आदेश दिया गया है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के प्रयास में सरकार ने बुधवार को राजनयिक और रोजगार जैसी कुछ श्रेणियों को छोड़कर सभी वीजा सेवाओं को निलंबित कर दिया। सरकार ने भारतीय नागरिकों से विदेश की सभी गैर-आवश्यक यात्रा से बचने के लिए कहा है।


ईरान से 53 भारतीयों का चौथा जत्था पहुंचा भारत, जांच के बाद भेजा जाएगा घर
नयी दिल्ली (एजेंसी)। कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक ईरान से 53 भारतीयों का चौथा जत्था सोमवार को भारत पहुंचा। अभी तक कुल 389 भारतीयों को ईरान से भारत लाया जा चुका है। गौरतलब है कि ईरान से रविवार को 230 से अधिक भारतीयों का तीसरा जत्था नयी दिल्ली पहुंचा था जिन्हें जैसलमेर के भारतीय सेना स्वास्थ्य केन्द्र में पृथक रखा गया है। जयशंकर ने ट्वीट किया, '' 53 भारतीयों (52 छात्रों और एक शिक्षक) का चौथा जत्था ईरान के तेहरान और शिराज से आ गया है। इसके साथ ही कुल 389 भारतीय अभी तक ईरान से भारत आ चुके हैं। ईरान में भारतीय दल और ईरानी अधिकारियों के प्रयासों की सराहना करता हूं।
अधिकारियों ने बताया कि ये भारतीय 'महान एयर के विमान में देर रात करीब तीन बजे दिल्ली हवाई अड्डा पहुंचे। इसके बाद उन्हें 'एअर इंडिया के विमान में जैसलमेर स्थित भारतीय सेना स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया। ईरान से 58 भारतीय तीर्थयात्रियों का पहला जत्था पिछले मंगलवार को लाया गया था और 44 भारतीय तीर्थयात्रियों का दूसरा जत्था शुक्रवार को यहां पहुंचा था। कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित देशों में ईरान भी शामिल है और सरकार वहां फंसे भारतीयों को वापस लाने का प्रयास कर रही है। ईरान में 700 से अधिक लोगों की इससे मौत हो चुकी है और करीब 14 हजार मामले सामने आए हैं। जयशंकर ने पिछले सप्ताह राज्यसभा में कहा था कि सरकार ईरान और इटली में फंसे भारतीयों को बाहर निकालने पर ध्यान दे रही है क्योंकि ये दोनों देश ''विषम परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं।


Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment