गणगौर समेत 7 बड़े मेले-उत्सव भी निरस्त



 कोरोना वायरस के असर के चलते जयपुर सहित प्रदेशभर में होने वाले मेले और उत्सवों को भी निरस्त कर दिया गया है। इस संबंध में  सरकार की ओर से आदेश जारी किए गए हैं। 21 मार्च को सीकर में होने वाला शेखावाटी पर्यटक उत्सव भी रद्द कर दिया गया है। वहीं 27-28 मार्च को जयपुर का गणगौर मेला और शाहपुरा में होने वाला गणगौर उत्सव भी निरस्त रहेगा। 27-29 मार्च तक उदयपुर का मेवाड़ उत्सव पर भी रोक लगा दी गई है। नागौर में 27 से 2 अप्रैल तक चलने वाला बलदेव पशु मेला भी निरस्त किया गया है। करौली केश्रीमहावीरजी मेले के कार्यक्रम रद्द। कैलादेवी लक्खी मेला स्थगित रहेगा। सीकर के खाटूश्याम मंदिर में &1 मार्च तक दर्शन बंद रहेंगे। गुरुवार को दर्शन करने पहुंचे लोगों को भी बाहर ही रोक लिया गया। इससे पहल बुधवार को पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर भी बंद कर दिया गया। ब्रह्मा मंदिर में नियमित रूप से पूजा अर्चना होगी तथा सुबह मंगलाआरती, शाम को संध्या व रात्रि को शयन आरती की जाएगी। श्रद्धालु आरती लाइव देख सकें।  श्रीनाथजी मंदिर में &48 साल में पहली बार भक्तों को दिनभर में होने वाली आठ झांकियों में से चार झांकी के दर्शनों (मंगला, राजभोग, आरती तथा शयन) में पहले आओ पहले पाओ के आधार पर सिर्फ 50 श्रद्धालुओं को ही प्रवेश दिया जाएगा। इसके बाद मंदिरों के पट बंद हो जाएंगे। इसी तरह उदयपुर शहर के प्रसिद्ध जगदीश मंदिर, अस्थल मंदिर, श्रीनाथजी मंदिर में 50 से यादा भक्त एक जगह मौजूद रहकर भगवान के दर्शन नहीं कर सकेंगे। मेहंदीपुर बालाजी ट्रस्ट द्वारा भी भगवान के दर्शन &1 मार्च तक के लिए बंद कर दिए हैं। अजमेर दरगाह में हौज से वुजू पर रोकअजमेर दरगाह में हौज से वुजू पर रोक लगा दी गई है। अब नल से ही वुजू कर सकेंगे। चित्तौडगढ़़ स्थित प्रसिद्ध सांवलियाजी मंदिर में दोपहर 12 से ढाई बजे के बीच आवाजाही बंद कर दी गई है। जैसलमेर के रामदेवरा मंदिर में दिन में तीन बार दर्शन की अनुमति होगी। 
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment