21 दिन महत्वपूर्ण हैं: पीएम मोदी .....भारत के सभी राज्यों में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन....घर से निकलने पर पूर्ण पाबंदी

India Lockdown: पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, घर से निकलने पर पूर्ण पाबंदी

आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी गई है: पीएम मोदी

Image result for भारत के सभी राज्यों में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन.

कोरोना वायरस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश को दूसरी बार संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 2 दिनों से देश के अनेक भागों में लॉकडाउन कर दिया गया है। राज्य सरकार के इन प्रयासों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए। आज 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण  लॉकडाउन {lockdown} हो  है। मोदी ने कहा कि 22 मार्च को जनता कफ्र्यू का जो संकल्प हमने लिया था, एक राष्ट्र के नाते उसकी सिद्धि के लिए हर भारतवासी ने पूरी संवेदनशीलता के साथ, पूरी जिम्मेदारी के साथ अपना योगदान दिया। एक दिन के जनता कफ्र्यू से भारत ने दिखा दिया कि जब देश पर संकट आता है, जब मानवता पर संकट आता है तो किस प्रकार से हम सभी भारतीय मिलकर, एकजुट होकर उसका मुकाबला करते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि आप कोरोना वैश्विक महामारी पर पूरी दुनिया की स्थिति को समाचारों के माध्यम से सुन रहे हैं और देख भी रहे हैं। दुनिया के समर्थ से समर्थ देशों को भी कैसे इस महामारी ने बिल्कुल बेबस कर दिया है। आप कोरोना वैश्विक महामारी पर पूरी दुनिया की स्थिति को समाचारों के माध्यम से सुन रहे हैं और देख भी रहे हैं। दुनिया के समर्थ से समर्थ देशों को भी कैसे इस महामारी ने बिल्कुल बेबस कर दिया है। अगर हम कोरोना के प्रसार को रोकना चाहते हैं, तो हमें संक्रमण के चक्र को तोडऩा होगा। कुछ लोग इस ग़लतफ़हमी में हैं कि सामाजिक भेद केवल उन लोगों के लिए है जो covid-19 से पीडि़त हैं। यह सही नहीं है। कुछ लोगों की लापरवाही, कुछ लोगों की गलत सोच, आपको, आपके बच्चों को, आपके माता पिता को, आपके परिवार को, आपके दोस्तों को, पूरे देश को बहुत बड़ी मुश्किल में झोंक देगी। मोदी ने कहा कि इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी। लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है। आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हेल्थ एक्सपट्र्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण की सायकिल तोडऩे के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें। आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है, वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता। इसलिए ऐहतियात बरतिए, अपने घरों में रहिए। ये धैर्य और अनुशासन की घड़ी है मोदी ने कहा कि ये धैर्य और अनुशासन की घड़ी है। जब तक देश में  stage2 स्थिति है, हमें अपना संकल्प निभाना है, अपना वचन निभाना है। मेरी आपसे प्रर्थना है कि घरों में रखकर आप उनके लिए मंगलकामना कीजिए जो खुद को खतरे में डालकर दूसरों को बचा रहे हैं। भारत आज उस स्टेज पर है जहां हमारे आज के एक्शन तय करेंगे कि इस बड़ी आपदा के प्रभाव को हम कितना कम कर सकते हैं। ये समय हमारे संकल्प को बार-बार मजबूत करने का है। कोरोना से निपटने के लिए उम्मीद की किरण, उन देशों से मिले अनुभव हैं जो कोरोना को कुछ हद तक नियंत्रित कर पाए। हफ्तों तक इन देशों के नागरिक घरों से बाहर नहीं निकले, इसलिए ये देश इस महामारी से बाहर निकलने की ओर बढ़ रहे हैं।

67 दिनों में एक लाख मरीज और दो लाख के ऊपर जाने में सिर्फ चार दिन
अगर आज किसी भी व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस पहुंचता है तो उसके लक्षण दिखने में कई कई दिन लग जाते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट बताती है कि इस बीमारी से संक्रमित सिर्फ एक व्यक्ति सैंकड़ों लोगों को संक्रमित कर सकता है। डब्लूएचओ का एक और आंकड़ा बहुत अहम है। कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या को एक लाख पहुंचने में 67 दिन लगे थे। फिर अगले एक लाख (यानी दो लाख) लोग सिर्फ 11 ही दिन में संक्रमित हो गए। यह और भी भयावह है कि दो लाख से आगे यह बीमारी पहुंचने में सिर्फ चार दिन लगे। आप अंदाजा लगा सकते हैं कि ये कितनी तेजी से फैलता है। इसीलिए चीन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, इटली, फ्रांस जैसे साधन संपन्न देशों में जब कोरोना वायरस ने फैलना शुरू किया तो वहां भी हालात बेकाबू हो गए।

केंद्र ने दिया 15 हजार करोड़ रुपये का पैकेज 
अब कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए केंद्र सरकार ने 15 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इससे कोरोना से जुड़ी जांच तकनीक, वेंटिलेटर,आईसीयू बेड और अन्य उपकरण और पैरामैडिकल साधन भी बढ़ाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों से कहा कि सभी के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ही पहली प्राथमिकता होनी चाहिए। पूरा अमला देश के साथ खड़ा है। प्राइवेट अस्पताल भी सरकार के साथ काम करने आ रहे हैं
अफवाह और अंधविश्वास से बचें
पीएम मोदी ने कहा कि आपसे आग्रह है कि किसी भी अफवाह और अंधविश्वास से बचें। आप केंद्र व राज्य सरकार और चिकित्सकों के निर्देशों का पालन करें। इस बीमारी के लक्षणों के दौरान बिना डाक्टरी सलाह के कोई भी दवा न लें। इससे सेहत को और नुकसान होगा। सभी नागरिक प्रशासन के निर्देशों का पालन करें। 21 दिन का लाकडाउन लंबा समय है। लेकिन आपके परिवार की रक्षा के लिए यही एक अहम रास्ता है। हर हिंदुस्तानी इस मुश्किल घड़ी से विजयी होकर निकलेगा। आप अपना ध्यान रखिए और अपनों का ध्यान रखिए। उन्होंने कहा कि आप सभी जनता कफ्र्यू की सफलता के लिए बधाई के पात्र हैं।

Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment