मंदिर तो बंद हैं, लेकिन लोग आए हैं.



Image result for rajasthan lockdown
एसएमएस अस्पताल के सामने ड्रग स्टोरों पर 10 रुपए में फेस मास्क मिल सकेगा राजस्थान में करोनावायरस पॉजिटिव का आंकड़ा 32 पर पहुंच चुका है। इस बीच जयपुर में राहत की बात है कि पिछले 48 घंटे से कोई नया केस सामने नहीं आया है। जयपुर आखिरी केस शनिवार को सामने आय़ा था। जिसमें जयपुर निवासी एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला था। जिसके बाद उसे आइसोलेशन में रखा गया था। वहीं जरूरतमंदों की मदद के लिए राहत कोष में एक दिन के अंदर 21 करोड़ रुपए जमा हुए।

सड़कों पर दिखे दुपहिया और गाडिय़ां

लॉकडाउन के बावजूद जयपुर चारदीवारी में सड़कों पर दुपहिया वाहन और गाडिय़ां घूमती रहीं। इस बीच पुलिस ने नाके लगाकर  वाहन चालकों को रोका। इनमें से ज्यादातर वाहन चालकों ने कहा कि हम हॉस्पिटल जा रहे हैं। दवाई लेने जा रहे हैं।  ज्यादातर के हाथ में मेडिकल की परची नजर आई। ऐसे भी वाहन चालक नजर आए जो सिर्फ डिस्काउंट के चक्कर में इधर-उधर घूम रहे थे। वहीं कुछ कहते दिखे कि मैं किसी से मिलने जा रहा हूं। वहीं एक फूड डिलिवरी बॉय ने कहा कि मैं पब्लिक की सेवा कर रहा हूं। जयपुर परकोटे के अंदर मालियों की गली मे मोहल्ला कमेटी ने गेट लगा दिया है। यहां के लोग किसी को भी आने से पहले चेक कर रहे हैं। अपनी कॉलोनी की सुरक्षा के लिए लोगों ने ये इंतजाम किया है। इसके साथ जयपुर में जरूरत के सामान की दुकानें खुली रहीं। लोग खरीदारी भी करते दिखे।

अलवर में पुलिस ने काटे चालान

जहां एक तरफ सड़कें खाली है। वहीं असवर में लोग सड़कों पर घूमते दिखे। जिसके चलते पुलिस को चालान काटने पड़े। अलवर के भगत सिंह चौराहे पर पुलिस काफी देर लोगों के चालान काटती रही। जिसके कारण यहां भीड़ भी जुट गई। यहां सुबह 9:00 बजे से अब तक करीब 100 वाहन चालकों के चालान काट दिए गए।

एसएमएस अस्पताल के सामने 24 ड्रग स्टोरों पर 10 रु. में मिलेगा मास्क

कोरोना से बचाव के लिए फेस मास्क की मांग लगातार बढ़ती जा रही है। एसएमएस अस्पताल के सामने ड्रग स्टोरों पर 10 रुपए में फेस मास्क मिल सकेगा। जयपुर केमिस्ट एसोसिएशन के सचिव नवीन सांघी के अनुसार आमजन की बढ़ती मांग के कारण एसएमएस अस्पताल के सामने 24 ड्रग स्टोरों पर 10 रुपए में फेस मास्क उपलब्ध करवाया है। सांघी ने बताया कि फेस मास्क की भारी किल्लत है।

बैंक बंद करने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र

एसबीआई ऑफिसर्स एसोसिएशन के सचिव विनय भल्ला ने मुख्यमंत्री और राज्यपाल को पत्र लिखकर बैंकों को लॉकडाउन के दायरे में लाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बैंकों में सभी तरह के ग्राहक आते हैं। बैंककर्मी इनके संपर्क में आ रहे हैं। ऐसे में बैंककर्मी व उनके परिजनों को भी कोरोना वायरस का संक्रमण होने का खतरा है।

मुख्यमंत्री के कहने पर एक दिन में जुटे 21 करोड़ रूपये

31 मार्च तक लॉकडाउन के संकट से प्रभावित जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए लोग भी सहयोग कर रहे हैं। जिसके चलते मुख्यमंत्री राहत कोष में एक ही दिन में 21 करोड़ रूपये से अधिक की राशि एकत्र हो गई है। इसके लिए गहलोत ने सभी दानदाताओं का आभार व्यक्त किया है।

जरूरी सामान खरीदते दिखे लोग

सुबह जयपुर की सड़कों पर सन्नाटा दिखा। जयपुर में दवा, दूध और जरूरी सामान की दुकानें खुली हैं। लोग खरीददारी करते हुए नजर आए। राजधानी में पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद नजर आई। गाडिय़ों और पैदल निकल रहे लोगों से पूछताछ की।

20 बड़ी व 70 छोटी मिल आटा सप्लाई करने के लिए पाबंद

31 मार्च तक लॉकडाउन के संकट से प्रभावित जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए प्रदेशवासी मुक्तहस्त से सहयोग कर रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की नेक पहल से प्रभावित होकर सभी लोग जाति, धर्म, राजनीति एवं क्षेत्र से ऊपर उठते हुए गरीबों की मदद के इस काम में आगे आ रहे हैं। एक ही दिन में इस फण्ड के लिए 21 करोड़ रूपये से अधिक की राशि एकत्र हो गई है। इसके लिए श्री गहलोत ने सभी दानदाताओं का आभार व्यक्त किया है।

पॉजिटिव मरीजों के लिए 500 बेड की डेडिकेटेड आईपीडी होगी

कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार ने एसएमएस अस्पताल में 500 बैड की डेडिकेटेड आईपीडी शुरू करने का निर्णय किया है। इसके अलावा चरक भवन के प्रथम व द्वितीय तल में संदिग्धों के लिए आईपीडी बनाई जाएगी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर चिकित्सा शिक्षा विभाग ने इसके लिए बड़े स्तर पर तैयारी शुरू कर दी है। फिलहाल अस्पताल में 4 स्पेशिलिटी के 500 बैड कोरोना महामारी के लिए रिजर्व किए गए हैं। .एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भंडारी ने बताया कि एसएमएस में पहले से भर्ती मरीजों की स्क्रीनिंग कर उन्हें या तो डिस्चार्ज कर दिया जाएगा या फिर उन्हें किसी अन्य वार्ड में स्थानांतरित किया जाएगा। विभागवार कॉमन वार्डस बनाए जा रहे हैं। एसएमएस में वर्तमान में लगभग 20 वार्डस को खाली करवाकर कोरोना पॉजीटिव मरीजों के लिए 500 बैड की व्यवस्था की जा रही है।

पॉजिटिव के लिए

आईपीडी : एसएमएस मेंं गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी, यूरोलॉजी, रेडियोलॉजी सहित कुछ अन्य विभागों को जोड़कर डेडिकेटेड आईपीडी बनेगी।

आईसीयू : 24 बैड का आईसीयू कोरोना पेंशेट के लिए रिजर्व। इसके अलावा 30 बैड के वैकल्पिक आईसीयू की भी व्यवस्था की गई है।

Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment