कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए राज्य में भीलवाड़ा मॉडल लागू करने का निर्णय

Coronavirus Update Govt Apply Bhilwara Model Against COVID 19 ...


कोरोना-का-संक्रमण-रोकने-के-लिए-राज्य-में-भीलवाड़ा-मॉडल-लागू-करने का-निर्णय-भीलवाड़ा-में-एक-नया-व्यक्ति-पॉजिटिव-आने-से-मेडिकल-विभाग-के-अधिकारियों-की-चिंता-बढ़ी

Corona-of-infection-to-prevent-the-state-of-the-Bhilwara-model-implementation-of-the-decision-in-Bhilwara-in-a-new-person-positive-coming-from-the-medical-department-of-Concerns-of-officers-increased

जयपुर (संवाद)। राजस्थान में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं।  संक्रमण की बिगड़ती स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, चूरू, झुंझुनूं और बांसवाड़ा समेत अन्य जिलों में भीलवाड़ा मॉडल लागू करने का निर्देश दिया है। क्या है भीलवाड़ा मॉडल? भीलवाड़ा कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने राज्य  सरकार के किसी सरकारी आदेश का इंतजार किए बगैर ही जिले को 20 चेकपोस्ट बनाकर सील कर दिया। राशन सामग्री की सप्लाई सरकारी स्तर पर करने और जिले के हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग का फैसला किया।  शहर में संक्रमण बांगड़ हॉस्पिटल के डॉक्टर से फैला, इसलिए सबसे पहले यह पता किया कि यहां कहां-कहां से मरीज आए। सूची निकलवाई तो पता चला कि 4 राज्यों के 36 और राजस्थान के 15 जिलों के 498 मरीज थे। इन सभी जिलों के कलेक्टर को इन मरीजों की सूचना देकर स्क्रीनिंग करवाई गई।  पॉजिटिव केस मिलते ही भीलवाड़ा में कफ्र्यू लगा दिया, ताकि लोग घरों में रहें। बांगड़ अस्पताल में आने वाले मरीजों की स्क्रीनिंग शुरू की गई। हजार टीमें बनाकर 25 लाख लोगों की स्क्रीनिंग शुरू करा दी गई। करीब 18 हजार लोग सर्दी-जुखाम से पीडि़त मिले। 1 हजार 215 लोगों को होम क्वारैंटाइन कर वहां कर्मचारी तैनात किए गए। करीब एक हजार संदिग्धों को 20 होटलों में क्वारैंटाइन किया गया। शहर के 55 वार्डों में 2-2 बार सैनिटाइजेशन करवाया गया, ताकि संक्रमण न फैले। लोगों को परेशानी नहीं हो, इसलिए सहकारी उपभोक्ता भंडार से खाने-पीने के सामान की सप्लाई शुरू की गई। रोडवेज की बसें बंद करवा दी गईं। दूध सप्लाई के लिए डेयरी को सुबह सिर्फ 2 घंटे खोला गया। हर वार्ड में होम डिलीवरी के लिए किराने की 2-3 दुकानों को लाइसेंस दिए गए। कृषि मंडी को सब्जियां और फल सप्लाई करने की जिम्मेदारी दी गई। गुरुवार को राज्य में 80 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई : गुरुवार को राज्य में 80 नए संक्रमित मिले। इनमें से जयपुर में 39, जैसलमेर में 9 (4 ईरान से आए) और जोधपुर में 5 (2 ईरान से आए) मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं, झालावाड़, झुंझुनं और टोंक में 7-7 पॉजिटिव मिले। कोटा, बांसवाड़ा में 2-2, जबकि भीलवाड़ा और बाड़मेर में 1-1 केस मिला। गुरुवार को संक्रमण से 2 मौत हुईं। जोधपुर में बुधवार देर रात 77 साल के बुजुर्ग ने दम तोड़ा।  गुरुवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसी रात जयपुर के रामगंज की रहने वाली 65 साल की संक्रमित महिला की एसएमएस अस्पताल में मौत हो गई। राज्य में संक्रमण से अब तक 8 लोगों की जान जा चुकी है। भीलवाड़ा : पहला ऐसा संक्रमित मिला, जिसकी हिस्ट्री बांगड़ अस्पताल से नहीं भीलवाड़ा के बापूनगर में गुरुवार शाम को एक व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। करीब 11 दिन में यहां संक्रमण का यह दूसरा मरीज मिला है। इस केस ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी, क्योंकि शहर का यह पहला संक्रमित है जिसका शहर के बांगड़ अस्पताल से कोई संबंध नहीं है। यह अस्पताल यहां कोरोना का मुख्य केंद्र रहा है। शहर में पहले मिले 27 मरीज इस  स्पताल में आकर ही संक्रमित हुए थे।  जयपुर : संक्रमितों की संख्या 170 पहुंची, अब कम्युनिटी संक्रमण का डर
जयपुर में गुरुवार को 39 नए मामले सामने आए। इनमें 4 साल की एक बच्ची भी है। शहर में अब संक्रमितों की संख्या 170 हो गई है। जयपुर में पहला कोरोना पॉजिटिव 2 मार्च को मिला था। यह इटली का नागरिक था। 25 मार्च तक जयपुर में कुल 8 रोगी ही थे। 9 अप्रैल तक यह आंकड़ा 170 तक पहुंच गया। अब यहां कम्युनिटी संक्रमण का खतरा है। जयपुर के संक्रमितों में 127 अकेले रामगंज के हैं। इसके पीछे 45 साल के ओमान से लौटे एक व्यक्ति को जिम्मेदार माना जा रहा है। उसे 14 दिन के लिए होम क्वारैंटाइन किया गया था, लेकिन वह परिवार वालों और रिश्तेदारों से मिलता रहा। बाद में पॉजिटिव पाया गया। 25 मार्च से रामगंज और उसके आसपास के इलाके को सील कर दिया गया है। 7 मार्च से इस इलाके में सख्ती और बढ़ा दी है।  जोधपुर में एक बुजुर्ग की मौत के बाद प्रशासन ने ही उनका अंतिम संस्कार करवाया। राजस्थान के 24 जिलों में कोरोना राजस्थान के 33 में से 24 जिलों में कोरोना के केस मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा 170 पॉजिटिव जयपुर में हैं। जोधपुर 72 (इसमें 38 ईरान से आए), जैसलमेर में 31 (इसमें 4 ईरान से आए), झुंझुनूं में 31, भीलवाड़ा में 28, टोंक में 27, बांसवाड़ा में 24, बीकानेर में 20, कोटा में 18, झालावाड़ में 12, चूरू में 11, भरतपुर में 9, अलवर-दौसा में 6-6, डूंगरपुर-अजमेर में 5-5, उदयपुर में 4, प्रतापगढ़-पाली और करौली में 2-2, जबकि बाड़मेर, नागौर, धौलपुर और सीकर में 1-1 संक्रमित मिला है। उदयपुर : किडनी के मरीज तक पुलिस ने मदद पहुंचाई लॉकडाउन में प्रशासन की मुस्तैदी और मानवीय पहलू देखने को मिला। यहां किडनी के एक मरीज ने दवा खत्म होने पर पुलिस ने उनकी मदद की। मल्ला तलाई में रहने वाले वकार हुसैन को किडनी की समस्या है। कफ्र्यू के बीच दवा खत्म होने से वे काफी परेशान थे। यह बात एसपी कैलाश चंद्र विश्नोई को पता चली तो उन्होंने पुलिसकर्मियों को उनके घर भेजा और उन्हें दवा उपलब्ध कराई।





Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment