टाइम्स रैंकिंग में इस साल हिस्सा नहीं लेंगी सात आईआईटी, ट्रांसपैरेंसी को लेकर लगाया आरोप

coronavirus death number india covid 19 world pandemic outbreak ...


  

जयपुर (संवाद)। देश की टॉप-7 इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) ने इस साल टाइम्स हायर एजुकेशन वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में पार्टिसिपेट नहीं करने का निर्णय लिया। इनमें आईआईटी बॉम्बे, दिल्ली, गुवाहाटी, कानपुर, खडग़पुर, मद्रास और आइआइटी रूडक़ी शामिल हैं। ये इंस्टीट्यूशंस रैंकिंग की ट्रांसपैरेंसी को लेकर संतुष्ट नहीं हैं। लेकिन प्रदेश के इंस्टीट्यूशंस इसके लिए अप्लाई कर रहे हैं। प्रदेश के वनस्थली विद्यापीठ और बिट्स पिलानी संभवत दो ही इंस्टीटïयूट्स हैं, जो टाइम्स रैंकिंग में जगह बनाते हैं। आपको बता दें कि यूनाइटेड किंगडम की टाइम्स हायर एजुकेशन मैगजीन की ओर से हर साल हायर एजुकेशन में दुनियाभर के टॉप संस्थानों की रैंकिंग जारी की जाती है। इसे वल्र्ड की सबसे विश्वसनीय रैंकिंग माना जाता है।  आपको जानकार हैरानी होगी कि पिछले साल कोई भी इंडियन इंस्टीट्यूट टॉप-200 में जगह नहीं बना पाया था।
पिछले साल सैकंड रैंक मिली पिछले साल टाइम्स हायर एजुकेशन वल्र्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में प्रदेश से निवाई स्थित वनस्थली विद्यापीठ यूनिवर्सिटी और पिलानी स्थित बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ही अपनी जगह बना पाई थी। वनस्थली विद्यापीठ को टाइम्स रैंकिंग में दुनिया की दूसरी सबसे बेहतरीन वुमन्स यूनिवर्सिटी चुना गया था। वनस्थली विद्यापीठ के वाइस चांसलर आदित्य शास्त्री का कहना है कि हम इस साल भी इस रैंकिंग में हिस्सा ले रहे हैं। हाल ही यूनिवर्सिटी को नेशनल असेसमेंट एंड एक्रेडेशन काउंसिल (नैक) की ओर से ए++ ग्रेड मिला है। प्रदेश के किसी इंस्टीट्यूटशन को पहली बार ए++ ग्रेड मिली है। एजुकेशन क्वालिटी को हमने पहले से भी बेहतर बनाया है, ऐसे में इस साल दुनिया की नंबर-1 वुमन्स यूनिवर्सिटी चुने जाने की उम्मीद है। पहले भी लगे हैं आरोप पिछले दिनों ही नैक से ए+ ग्रेडिंग पाने वाली मणिपाल यूनिवर्सिटी के प्रो-प्रेसिडेट एनएन शर्मा का कहना है पिछले कुछ समय में टाइम्स रैंकिंग पर ट्रांसपैरेंसी नहीं होने के आरोप लगते आए हैं। इसका पैटर्न थोड़ा डेमोक्रेटिक नहीं है। ये एकेडमिशियन, स्टेक होल्डर, एम्पलॉयर, एलुमिनाई की डिटेल पार्टिसिपेटिंग इंस्टीट्यूशंस से नहीं लेते हैं और इनका पूरा प्रोसेस हिडन होता है। हालांकि प्रोसेस को लेकर कई इंस्टीट्यूशन को प्रॉब्लम रहती है, लेकिन मेरा मानना है कि प्रदेश के सभी इंस्टीट्यूशंस को इसमें हिस्सा लेना चाहिए। पांच स्टैंडर्ड के आधार पर रैंकिंग टेक्निकल एजुकेशन एक्सपट्र्स का कहना है कि टाइम्स हायर एजुकेशन रैंकिंग टीचिंग, रिसर्च, साइटेशन, इंटरनेशनल आउटलुक और इंडस्ट्री इनकम जैसे पांच स्टैंडर्ड के आधार पर तय होती है। पिछले इस टॉप-1200 रैंक में इंडिया की 57 यूनिवर्सिटीज शामिल थी।

Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a Comment