थम नहीं रहा कोरोना का प्रसार......संक्रमितों की संख्या 2300 के पार पहुंची, अब तक 73 की मौत





नई दिल्ली ।  देश में कोरोना वायरस का प्रसार थमता नहीं दिख रहा है। संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। गुरुवार को अलग-अलग राज्यों में कुल 342 नए मामलों के साथ देश में संक्रमितों की संख्या 2331 पर पहुंच गई। 14 मौत के साथ मृतकों की संख्या 73 हो गई है। अब तक 174 लोग इससे पूरी तरह ठीक हुए हैं। इस मामले में चिंताजनक स्थिति यह भी है कि अब तक देश में 50 से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मी संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। कुछ जगहों पर डॉक्टरों व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले के मामले भी सामने आए हैं। गुरुवार को बिहार के मुंगेर में सैंपल लेने पहुंचे स्वास्थ्यकर्मियों और पुलिस अधिकारियों पर भीड़ ने हमला कर दिया। बुधवार को बेंगलुरु में आशा कर्मियों पर हमले की ऐसी ही घटना सामने आई थी।

आंध्र में 32 और केरल में 21 नए मामले
आंध्र प्रदेश में गुरुवार को 32 नए मामले सामने आए। यहां संक्रमितों की कुल संख्या 143 हो गई है। यहां पॉजिटिव पाए गए सभी नए मामले तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल हुए लोगों के हैं। आंध्र प्रदेश से मरकज में शामिल हुए 91 लोग पॉजिटिव पाए जा चुके हैं, यह मरकज में शामिल हुए लोगों के 16 फीसद के बराबर है। राज्य में मार्च के शुरुआती दिनों से अब तक 1873 लोगों की जांच हुई है, जिनमें से 1321 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। केरल में गुरुवार को 21 नए मामले सामने आए। यहां संक्रमितों की कुल संख्या 286 पहुंच गई है। राज्य में डेढ़ लाख से ज्यादा लोग निगरानी में हैं।

महाराष्ट्र में आंकड़ा 400 के पार
महाराष्ट्र में गुरुवार को 81 नए मामलों के साथ संक्रमितों का कुल आंकड़ा 416 पर पहुंच गया है। राज्य में अब तक 19 लोग कोरोना के कारण जान गंवा चुके हैं। गुरुवार को दो लोगों की मौत हुई। राज्य में नए आए मामलों में से 57 मुंबई के हैं। महाराष्ट्र में अब तक 42 लोग ठीक हुए हैं। राज्य सरकार ने संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए 30 सरकार अस्पतालों को पूरी तरह कोरोना के इलाज के लिए निर्धारित कर दिया है। इन अस्पतालों में 2305 बेड उपलब्ध हैं।


तब्लीगी मरकज में शामिल हुए लोगों में लगातार हो रही वायरस की पुष्टि
दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तब्लीगी जमात के मरकज में शामिल हुए लोगों में लगातार संक्रमण की पुष्टि हो रही है। इससे प्रशासन की चिंता बढ़ी हुई है। देशभर में ऐसे लोगों की पहचान की जा रही है, जिन्होंने मरकज में हिस्सा लिया था या इसमें हिस्सा लेने वालों के संपर्क में आए हैं। देश में अब तक ऐसे करीब 9,000 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। गुरुवार को तमिलनाडु में 75 मामले पॉजिटिव पाए गए, जिनमें से 74 लोग वो हैं, जो मरकज में हिस्सा लेकर लौटे थे। राज्य में अब तक ऐसे 264 लोग पॉजिटिव पाए जा चुके हैं, जिन्होंने मरकज में हिस्सा लिया था। तमिलनाडु में संक्रमितों की कुल संख्या 309 हो गई है।



एम्स का एक रेजिडेंट डॉक्टर भी कोरोना वायरस की चपेट में
नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली-एनसीआर में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इस कड़ी में डॉक्टर भी कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। ताजा मामला देश के नामी अस्पताल अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान का है। एम्स के फिजियोलॉजी विभाग के एक रेजिडेंट डॉक्टर भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। वह हौज रानी मालवीय नगर में रहते हैं और पिछले कुछ दिनों से वह दिल्ली परिवहन निगम की बस से घर से दफ्तर आ-जा रहे थे। कोरोना वायरस संमक्रित डॉक्टर को फिलहाल एम्स के नए प्राइवेट वार्ड में भर्ती किया गया है। कुछ समय बाद उन्हें ट्रामा सेंटर में शिफ्ट किया जाएगा, जिसे कुछ दिन पहले ही कोरोना के लिए समर्पित कर दिया गया था।







पुलिस से छिप रहे तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने जारी किया ऑडियो, कहा-
मैंने खुद को क्वारंटाइन में रखा, सभी मानें डॉक्टरों की सलाहनई दिल्ली (एजेंसी)। पुलिस केस दर्ज होने के बाद लापता हुए तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद के कोराना वायरस पर सुर बदल गए हैं। साद ने अब कोविड-19 के खिलाफ जंग में सरकार का पूरा सहयोग करने का भरोसा दिया है। कोरोना के बावजूद लोगों से मस्जिद आने और इसे मरने के लिए सबसे बेहतर जगह बताने वाले मौलाना साद ने अब एक ऑडियो क्लिप जारी करते हुए कहा है कि उन्होंने खुद को अलग-थलग (सेल्फ क्वारंटाइन) रखा है और दूसरे जमातियों से भी अपील की है कि डॉक्टरों और सरकार की सलाह मानें। डॉक्टरों की सलाह मानना शरियत के खिलाफ नहीं है। मरकज के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किए गए ऑडियो क्लिप में साद ने कहा, 'हमें भीड़ से बचना चाहिए और सरकार और कानून की ओर से जो कहा जाए उसका पालन करें। आप जहां हैं वहां खुद को क्वारंटाइन कर लें। यह इस्लाम या शरियत के खिलाफ नहीं है। माना जा रहा है कि साद दिल्ली में ही किसी अज्ञात स्थान पर छिपे हुए हैं। गुरुवार को सामने आए ऑडियो क्लिप में उन्होंने कहा, 'मैं डॉक्टरों की सलाह पर दिल्ली में सेल्फ क्वारंटाइन हूं। मैं सभी जमात से अपील करता हूं आप देश में जहां भी हैं कानून की ओर से बताए जा रहे निर्देशों का पालन करें। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रान्च की ओर से साद की गिरफ्तारी के लिए दिल्ली और यूपी के कई इलाकों में छापेमारी की गई है।


 दिल्ली के जाकिर नगर और निजामुद्दीन सहित उसके तीन आवासों पर छापेमारी की गई है
 बताया जाता है कि करीब 200 देशों में साद के 100 करोड़ अनुयायी हैं। निजामुद्दीन मरकज जमात का मुख्यालय है।साद पर आरोप है कि उन्होंने दिल्ली और केंद्र सरकार की ओर से लागू किए गए नियमों का उल्लंघन करते हुए मरकज में लोगों को धार्मिक कार्यक्रम के लिए एकत्रित किया। मरकज में सैकड़ों विदेशी मेहमान भी आए थे, जिनके जरिए जमात के सैकड़ों लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए। यहां से देश के अलग-अलग हिस्सों में गए लोग अपने साथ कोरोना वायरस ले गए। देश में कोरना के मामलों की संख्या 2 हजार के पार चली गई है, जिसमें से &58 लोग मरकज से जुड़े हुए हैं।

Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment