टिड्डी के खिलाफ होगा जॉइंट ऑपरेशन

India's Joint Operation Against Locust Outbreak - टिड्डी ...
  • टिड्डी के खिलाफ होगा जॉइंट ऑपरेशन
  • जॉइंट ऑपरेशन के लिए भारत ने पाक व ईरान के सामने रखा प्रस्ताव
  • ईरान की सहमति, पाकिस्तान ने कोई जवाब नहीं दिया
जोधपुर ।

टिड्डी के आउटब्रस्ट होने से भारत ने पाकिस्तान व ईरान के साथ मिलकर जाइंट ऑपरेशन करने का प्रस्ताव रखा है ताकि तीनों देश एक दूसरे के साथ टिड्डी की रियल टाइम लोकेशन, तकनीक व अन्य संसाधन शेयर कर सकें। ईरान की इस पर सहमति है लेकिन पाकिस्तान ने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है। भारत ने ईरान को पेस्टीसाइड मैलाथिन देने का भी प्रस्ताव रखा है। पाकिस्तान टिड्डी छिडक़ाव का पेस्टीसाइड नहीं बनाता है लेकिन उसने चीन से 3 लाख लीटर पेस्टीसाइड मंगाया है। पिछले साल भी पाक में 20 दिनों तक पेस्टीसाइड नहीं था जिसके कारण कई टिड्डी भारत आ गए थे। दक्षिण एशिया में टिड्डी से प्रभावित देश ईरान, पाकिस्तान व भारत है। खाड़ी देश यमन, ओमान व स्वेज नहर के दोनों ओर बसे देश और पूर्वी अफ्रीका से टिड्डी सीधी ईरान के दक्षिणी हिस्से में आती है जहां अच्छी खासी बरसात होने से वनस्पति मिल जाती है। यहां से पाकिस्तान के ब्लूचिस्तान प्रांत में घुसकर सिंध होते हुए राजस्थान के बॉर्डर से भारत में प्रवेश करती है। वर्तमान में ईरान के दक्षिणी हिस्से व ब्लूचिस्तान में टिड्डी ने बड़ी संख्या में अण्डे दिए हैं। इससे तीनों देशों की वनस्पति और कृषि पर संकट खड़ा हो गया है।
टिड्डी लगभग उसी रुट से आगे बढ़ रही है, जिस रुट पर वह पिछले साल थी। वह अपने सेंसर से वनस्पति की पहचान कर लेती है। 

डॉ. केएल गुर्जर, उप निदेशक, टिड्डी चेतावनी संगठन
25 दिन में 6 राज्यों तक पहुंची टिड्डी

उत्तरप्रदेश के झांसी पहुंच चुकी है। आगरा के प्रवेश द्वार पर बैठी है। वहीं मध्यप्रदेश के कई जिलों से होते हुए यह पन्ना टाइगर रिजर्व में प्रवेश कर गई है जहां हरे-भरे पेड़-पौधों को नुकसान पहुंचा रही है। राजस्थान में दक्षिण-पूर्वी जिलों को छोडकऱ अधिकांश में टिड्डी ने आक्रमण किया है। मानसून काल में हवा का रुख उत्तरी-पश्चिमी और पश्चिमी बने रहने से टिड्डी लगातार पूर्वी भारत की ओर बढ़ रही है। अब तक राजस्थान, मध्यप्रदेश, पंजाब, हरियाणा, गुजरात और उत्तरप्रदेश में टिड्डी पहुंच चुकी है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से भारत के पंजाब में इस सप्ताह फिर टिड्डी प्रवेश की आशंका है इसलिए पंजाब सरकार ने 8 जिलों को अलर्ट पर रखा है।
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment