कोरोना का कहर जारी, अब कोरोना से संक्रमित हुआ ये क्रिकेटर

कोरोना का कहर जारी, अब कोरोना से संक्रमित हुआ ये क्रिकेटर

जोहानिसबर्ग। पहले ही कई बीमारियों से जूझ रहे दक्षिण अफ्रीका के प्रथम श्रेणी क्रिकेटर सोलो नक्वेनी को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। यह 25 वर्षीय आलराउंडर पिछले साल जुलाई से गुलियन बेरे सिंड्रोमबीमारी से पीडि़त हैं जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और तंत्रिका तंत्र से जुड़ा रोग है। उन्होंने कोविड-19 से संक्रमित होने की खबर ट्विटर पर साझा की। नक्वेनी ने कहा, ‘‘पिछले साल मैं गुलियन बेरे सिंड्रोम से ग्रस्त हो गया था और पिछले दस महीनों से इससे जूझ रहा हूं। अभी मैं उससे आधा ही उबर पाया हूं। मुझे टीबी हो गयी। मेरे यकृत और गुर्दे फेल हो गये। और अब मुझे कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। मेरी समझ में नहीं आ रहा है यह सब मेरे साथ ही क्यों हो रहा है। ’’ नक्वेनी तीसरे क्रिकेटर हैं जिन्हें कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है। उनसे पहले पाकिस्तान के जफर सरफराज और स्कॉटलैंड के माजिद हक को इस बीमारी से संक्रमित पाया गया था। नक्वेनी दक्षिण अफ्रीका की तरफ से 2012 में अंडर-19 की तरफ से खेले थे।

वनडे में अच्छे प्रदर्शन के लिये अश्विन, यासिर या लियोन में विविधता नहीं : मुश्ताक

नयी दिल्ली (एजेंसी)। रविचंद्रन अश्विन और नाथन लियोन जैसे विश्व स्तरीय टेस्ट गेंदबाज सीमित ओवरों में उस सफलता को नहीं दोहरा सके और पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर मुश्ताक अहमद का मानना है कि सपाट पिचों पर ‘विविधता के अभाव’ के कारण ऐसा हुआ। अश्विन ने 71 टेस्ट में 365, लियोन ने 96 टेस्ट में 390 और पाकिस्तान के यासिर शाह ने 39 टेस्ट में 213 विकेट लिये हैं। वनडे और टी20 में हालांकि वह इस सफलता को नहीं दोहरा सके। मुश्ताक ने कहा ,‘‘युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव को देखो। दोनों ने सफेद गेंद से भारत को कई मैच जिताये हैं। लियोन, अश्विन और यासिर की गेंदों में शायद वनडे क्रिकेट के लायक विविधता ही नहीं थी।’’ इंग्लैंड समेत दुनिया भर में कोचिंग कर चुके मुश्ताक का मानना है कि टेस्ट और सीमित ओवरों के स्पिनरों को अलग अलग करना होगा। उन्होंने कहा ,‘‘ स्पिनरों के लिये सबसे बड़ी चुनौती टेस्ट क्रिकेट है जहां उनकी प्रतिभा की असली परख होती है। यासिर शाह, नाथन लियोन, मोईन अली, अश्विन जैसे गेंदबाजों का टेस्ट क्रिकेट में योगदान अपार है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ इनमें से कुछ वनडे क्रिकेट में भी सफल रहे हैं लेकिन बदले हुए नियमों के साथ क्रिकेट अब काफी बदल गया है।ऐसे में रहस्यमयी स्पिनर और कलाई के स्पिनर अधिक प्रभावी हो गए हैं। इनमें आदिल रशीद, एडम जाम्पा, चहल, यादव और शादाब खान शामिल है।’’ मुश्ताक ने कहा ,‘‘ आजकल इतना क्रिकेट खेला जा रहा है कि अलग अलग प्रारूप के लिये अलग अलग स्पिनर होने चाहिये। आप पांच छह स्पिनरों को चुनकर उन्हें अलग अलग प्रारूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। 
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment