9-खबरे-हिन्दी-में

चमगादड़ हमारे दुश्मन नहीं हैं
COVID-19 Originated in Bats, Can Infect Cats, WHO Says | Time
डरावनी फिल्मों से लेकर सांस्कृतिक चित्रणों में चमगादड़ को हमेशा से एक निराधार भय से जोडक़र दिखाया गया है। और अब कोविड-19 महामारी का मुख्य रुाोत होने के कारण चमगादड़ और भी बदनाम हुए हैं। ऐसे में हो सकता है कि चमगादड़ों को खत्म करने के प्रयास किए जाएं। तब चमगादड़ों का संरक्षण करना कठिन हो जाएगा, साथ ही उनसे मिलने वाले महत्वपूर्ण लाभों की रक्षा करना भी मुश्किल हो जाएगा। संभावना तो यह भी है कि चमगादड़ों के खात्मे से नई परेशानियों खड़ी हो जाएं।  वास्तव में चमगादड़ों की कुछ रोगाणुओं के प्रति बहुत आक्रामक प्रतिरक्षा प्रणाली होती है, जिसकी वजह से वायरस और भी घातक रूप में विकसित हो जाते हैं। ऐसे में मनुष्यों में यदि इस तरह का कोई वायरस प्रवेश कर जाता है तो यह जानलेवा बन सकता है। लेकिन यहां चमगादड़ों से मिलने वाले लाभों पर बात करना भी आवश्यक है। चमगादड़ हमारे जंगलों को पुनर्जीवित करते हैं और उर्वरक प्रदान करते हैं। ये 300 से अधिक प्रजातियों की फसलों का परागण करते हैं। ककाओ, कपास, मकई और अन्य पौधों को कीटों से बचाते हैं। कम विकसित देशों में कीटों का सफाया करते हैं। जब अमेरिका के कृषि क्षेत्रों में कीटों का सफाया करने वाले चमगादड़ों की संख्या में कमी हुई थी तब कृषि क्षेत्रों में वाइट-नोज़ सिंड्रोम से शिशु रुग्णता और मृत्यु दर में तेज़ी से वृद्धि हुई थी क्योंकि कीटों से निपटने के लिए हानिकारक कीटनाशकों का छिडक़ाव बढ़ा था। चमगादड़ मलेरिया फैलाने वाले कीटनाशक प्रतिरोधी मच्छरों का भी भक्षण करते हैं। भविष्य में सार्स और एबोला के जोखिम को कम करने के लिए चमगादड़ों को नुकसान पहुंचने से रोगों का खतरा बढ़ सकता है। पूर्व में इस तरह के असफल प्रयास पेरू, युगांडा, मिस्र, ऑस्ट्रेलिया और इंडोनेशिया में किए जा चुके हैं। लेकिन अभी भी यह सवाल बना हुआ है कि आने वाली महामारियों को कैसे रोका जा सकता है। चमगादड़ों के संरक्षण की आवश्यकता है, साथ ही उनके क्षेत्रों में मानव गतिविधियों को कम करके संक्रमण से बचा जा सकता है। उदाहरण के लिए जंगलों के कम होने से फलभक्षी चमगादड़ों का प्रवास बांग्लादेश के खजूर के पेड़ों पर हुआ और देखते ही देखते वहां निपाह वायरस का संक्रमण शुरू हो गया। लेकिन अपने मूल निवास में रहते हुए चमगादड़ों द्वारा पालतू जानवरों में वायरस के फैलने की संभावना न के बराबर है। ऐसे में बड़े पैमाने पर उनके प्राकृतिक वास की बहाली से हम चमगादड़ों का संपर्क मनुष्यों और पालतू जानवरों से कम कर सकते हैं। इसके अलावा हम कृत्रिम आवास और देशी फलों के वृक्षों को विशेष रूप से उनके लिए लगा सकते हैं। इसके साथ ही सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उनके व्यापार को सीमित या समाप्त करने पर विचार करना चाहिए। यह मनुष्यों से चमगादड़ों के प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष संपर्क को रोकने का सबसे आसान तरीका है।   सौभाग्य से हमारे पास इस तरह के वायरसों से निपटने के कुछ नए तरीके सामने आ रहे हैं। आधुनिक जीनोम अनुक्रमण विधियों से चमगादड़-वायरस सम्बंध के रहस्यमयी क्षेत्र में कुछ रास्ता साफ हुआ। हालांकि टीकों और आधुनिक तकनीकों पर काम करने के साथ यह भी आवश्यक है कि हम चमगादड़ों को संरक्षित करने, उनकी उपस्थिति को स्वीकार करने और उनसे मिलने वाले लाभों के संदेश को लोगों तक पहुंचाएं ताकि स्वास्थ्यप्रद भविष्य संभव हो सके।






कर्मवीरों का सम्मान 
जोधपुर।

माड़ संस्थान द्वारा तिथि अनुसार 562वां जोधपुर स्थापना दिवस लॉकडाउन के कारण घरों में रहकर ही मनाया गया। 

इस अवसर पर सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि इस वर्ष जिला प्रशासन द्वारा सुचारू व्यवस्थाओं में भागीदारी निभाने वाले कर्मवीरों का सम्मान उनके कार्यालय में किया जाए। 

माड़ संस्थान के अध्यक्ष गोविन्द कल्ला ने बताया कि संस्था के महामंत्री सुमनेश व्यास ने विद्युत विभाग, शिक्षा विभाग, नगर निगम, चिकित्सा विभाग, डेयरी, पशु आहार, सेल्सटैक्स, पुलिस विभाग आदि विभागों में जाकर अधिकारियों को सम्मानित किया। 

आज अन्तिम कड़ी में जिला कलेक्टर प्रकाश राजपुरोहित को सम्मानित किया गया।

 सम्मानित करने में महामंत्री के साथ यशवन्त सिंह, जितेन्द्र पाल सिंह,आनन्द प्रकाश कल्ला व सुमित बिस्सा रहे। 







नारवा मेें विद्युत केबिल चोरी, दूसरी तरफ पानी चोरी का केस दर्ज
 जोधपुर । शहर के सूरसागर और बोरानाडा थाना क्षेत्र में चोरी के दो प्रकरण दर्ज हुए। सूरसागर पुलिस ने बताया कि कृर्षि फार्म एवं संस्थापन शाखा जर्म प्लाज्म स्टेशन नारवा के प्रभारी उदय सिंह पुत्र आईदन सिंह ने रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि 24 मई को अज्ञात व्यक्ति ने नारवा खिंचियान गांव में स्थित प्लांट में सैंधमारी करके वहां रखी करीब 11 सौ फीट केबल और पांच पाइप चुराकर ले गए। दूसरी तरफ बोरानाडा पुलिस के अनुसार जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग सालावास के कनिष्ठ अभियंता राकेश गहलोत ने रिपोर्ट दी। इनके अनुसार भींयाराम पुत्र ओगडऱाम ने सालावास रेलवे स्टेशन- अस्पताल रोड पर पानी की पाइप लाइन को क्षतिग्रस्त करके उसमे से पानी चोरी की। पुलिस ने सरकारी सम्पति को नुकसान पहुंचाने और पानी चोरी का के स दर्ज किया है। जांच थानाधिकारी की तरफ से की जा रही है।








खेत की फसल नष्ट करने का आरोप 
जोधपुर । बिलाड़ा के खारिया मीठापुर गांव में एक खेत में घुसकर मारपीट करने के साथ ऐवड़ डालने और फसल को नुकसान पहुंचाने का मामला पुलिस ने दर्ज किया।  बिलाड़ा पुलिस ने बताया कि डेरा खादड़ी खारिया मीठापुर निवासी प्रेमकिशोर पुत्र अन्नाराम ने रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि बाबूलाल पुत्र ढगलाराम, ओमप्रकाश पुत्र नाथूराम, नाथुराम पुत्र बालूराम, सुमेर पुत्र ढगलाराम गुर्जर ने उसके खेत में ऐवड़ लेकर घुसे और खेत में चार बीघा में खड़ी फसल को रौंदकर खराब किया और विरोध करने पर उसके और उसकी पत्नी साथ मारपीट करने के साथ पत्नी के साथ दुव्र्यवहार किया।







शराब ठेके में घुसकर मारपीट का आरोप
जोधपुर । शराब ठेके में घुसकर मारपीट और तोडफ़ोड़ करने के साथ गल्ले में रखी नकदी चोरी कर ले जाने का मुकदमा भोपालगढ थाने में दर्ज करवाया गया। भोपालगढ़ पुलिस ने बताया कि अरटियाकलां में स्थित शराब दुकान के सैल्समैन महेन्द्र पुत्र मालाराम जाट की तरफ से रिपोर्ट दी गई। इसमें पुलिस को बताया कि 9 जून की रात्रि को अरटिया गांव के सुभाष पुत्र हड़मानराम विश्नोई, गिरधारी पुत्र भंवर, रामदीन डारा पुत्र नरसिंह डारा, सुनिल पुत्र ओमप्रकाश डारा, जवरीलाल पुत्र विशनाराम डारा उसके शराब ठेके पर आए और उसके ठेके में तोडफ़ोड़ कर वहां गल्ले में रखी 80 हजार रूपए की नकदी चुराकर ले गए।








अलग अलग स्थानों पर हुई मारपीट, केस दर्ज 
जोधपुर । शहर के अलग अलग पुलिस थाना क्षेत्र में हुई मारपीट के प्रकरण पुलिस ने दर्ज किए है। सरदारपुरा पुलिस ने बताया कि बिलाड़ा के खारिया मीठापुर निवासी पवन पारिक पुत्र किशोर कुमार व्यास ने रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि 10 जून की शाम को वह सरदारपुरा क्षेत्र में आया हुआ था। जहां पर जसवंत सिंह आदि ने उससे मारपीट की और जख्मी कर दिया। इसी प्रकार देवनगर थाने में दी रिपोर्ट में मिल्कमैन कॉलोनी गली नम्बर 14 निवासी लक्ष्मण सिंह पुत्र हनुमान सिंह राजपुरोहित ने पुलिस को बताया कि बड़ला नगर निवासी महावीर सिंह पुत्र मान सिंह ने उसका रास्ता रोककर मारपीट की। इस बारे में पुलिस ने क्रॉस केस दर्ज करते हुए झंवर थानान्तर्गत बड़ला नगर निवासी महावीर सिंह पुत्र मानसिंह की रिपोर्ट ली। इसमें लक्ष्मण सिंह पर मारपीट का आरोप लगाया है।









अंतरराज्यीय सीमा पर यातायात नियंत्रण: वाहनों की लगी लाइनें, सघन जांच पड़ताल 
जोधपुर । राज्य सरकार के आदेश के बाद अन्तरराज्यीय सीमा पर यातायात नियंत्रण के लिए जोधपुर कमिश्ररेट पुलिस ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। रात से ही पुलिस ने हर थाना क्षेत्र में दो दो नाके लगा दिए है। ताकि हर आने जाने वाले वाहनों की सघन चेकिंग की जा सके। आज सुबह से ही नाकों पर वाहनों की लाइनें लगी नजर आई। पुलिस उपायुक्त पूर्व धर्मेंद्र सिंह यादव ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने बुधवार को अन्तरराज्यीय सीमा पर यातायात नियंत्रण के लिए पास की व्यवस्था का उल्लेख किया है। ऐसे में शहरी सीमा में आने वाले वाहनों की सघन जांच के लिए कमिश्ररेट व ग्रामीण क्षेत्रों के थानों में हर जगहों पर दो दो नाके लगाए गए है। ताकि बाहर से आने वाले व जाने वालों वाहनों की सघन चेकिंग की जा सके। इधर आज सुबह से ही नाकों पर वाहनों की लंबी कतारें देखने को मिली है। सनद रहे कि 1 जून से लेकर 10 जून के दरम्यिान प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 25 सौ मामले सामने आने पर उक्त आदेश राज्य सरकार ने बुधवार को जारी किए। इसके बाद प्रदेश की पुलिस के साथ ही कमिश्ररेट  पुलिस जोधपुर ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है।






सुनील महाराज ने किया मास्क वितरण का शुभारंभ 
जोधपुर । फॉरेवर हेल्प संस्था मिशन कौमी एकता सद्भावना द्वारा गरीब व जरूरतमंद, मजदूर, परिवारों को नि:शुल्क मास्क बांटने का शुभारंभ किया गया। संस्था के अध्यक्ष लियाकत खान वारसी ने बताया कि कथा वाचक सुनील महाराज द्वारा बनाड़ क्षेत्र में बिना मास्क कमठे पर कार्य कर रहे कारीगर व मजदूरों को नि:शुल्क मास्क बांटकर अभियान का शुभारम्भ किया गया। इस दौरान संस्था अध्यक्ष लियाकत खान वारसी, उपाध्यक्ष सुरेश बारूपाल, इरफान गौरी, नौशाद अंसारी, मोहम्मद नजरूद्दीन, हैदर अली कुरैशी, गुलाम मोहम्मद आदि मौजूद थे।







सुबह उठा तब पता लगा पिता फंदे पर लटके है
 जोधपुर ।
शहर के प्रतापनगर स्थित लाला लाजपत रॉय कॉलोनी में रहने वाले एक व्यक्ति ने ओढऩे से फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। सुबह उसका बेटा नींद से उठा तब घटना का पता लगा। फंदे से उतार कर पिता को तुुरंत अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टर ने उसे मृत बता दिया। मृतक की मानसिक स्थिति ठीक ने बताई है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजन को सौंप दिया है। प्रतापनगर पुलिस ने बताया कि लाला लाजपत रॉय कॉलोनी निवासी 45 साल के दौलतराम का शव सुबह साढ़े पांच बजे फं दे से लटका मिला। उसका पुत्र चेतन छत पर नींद से उठक र नीचे आया तब दौलतराम छत की हुक में ओढऩे से फंदा लगाए हुए था। पड़ौसियों की मदद से फंदे से उतार कर अस्पताल लाया गया। मगर यहां पर डॉक्टर ने उसे मृत बता दिया। पुलिस ने बताया कि मृतक की मानसिक स्थिति बिगड़ी हुई थी। वह कई बार घर से बिना बताए चला भी जाता था। उसके पुत्र चेतन ने मर्ग की रिपोर्ट दी है।
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment