नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में बीमारी से बाघ ‘रुद्र’ की मौत

White tigress dies in sanctuary near Jaipur, third death in 15 days

जयपुर। बायोलॉजिकल पार्क के बाघ ‘रूद्र’ की मौत हो गई है। 18 माह के ‘रूद्र’ की तबीयत खराब थी। मौत की वजह लेप्टोस्पायरोसिस नामक बीमारी है जो कि चूहों और नेवलों के पेशाब से होती है। बताया जा रहा है बायोलॉजिकल पार्क में चूहे तो नहीं लेकिन नेवलों की खासी तादाद है, ऐसे में खतरा दूसरे कैट फैमिली के जानवरों को भी हो सकता है। बाघ के साथ ही 2 साल पहले गुजरात से लाए शेर सिद्धार्थ की तबीयत भी क्रिटिकल है। डीएफओ सुदर्शन शर्मा 4 दिन से मौके पर मौजूद हैं। जिस तरह जानवरों की मौत हो रही है उसको देखते हुए यहां डॉक्टर की भूमिका, मॉनिटरिंग पहले से ही सवालों में हैं, जिस पर चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन कार्रवाई नहीं कर पा रहे। बाघ के साथ शेर के सैंपल भी आईवीआरआई बरेली भेजे गए हैं। कोविड-19 जांच भी कराई जाएगी। बायोलॉजिकल पार्क में अब एक मेल टाइगर और दो फीमेल बची हैं।
Share on Google Plus

About CR Team

Dainik Chamakta Rajasthan to provide lightning fast, reliable and comprehensive informative information to our visitors in the form of news and articles.

0 comments:

Post a comment